Bihar News

पटना से जेपी सेतु के रास्‍ते सोनपुर, हाजीपुर के बीच सिटी बस चलने का रास्‍ता साफ, ट्रायल सफल

Dainik Jagran - 28 min 56 sec ago

पटना, जागरण संवाददाता। गांधी मैदान से हाजीपुर वाया जेपी सेतु सिटी बसों का परिचालन किया जाएगा। सिटी बस पटना जंक्शन, बुद्धमार्ग, आयकर गोलंबर, वीरचंद पटेल पथ, अटल पथ, दीघा बाजार, जेपी सेतु, सोनपुर बाईपास होते हुए हाजीपुर तक चलेंगी। परिवहन सचिव संजय कुमार अग्रवाल ने बताया कि बिहार राज्य पथ परिवहन निगम की ओर से सिटी बस का ट्रायल मंगलवार को किया गया। यह सफल रहा। ट्रायल परिवहन निगम के संचालन मुख्य निरंजन कुमार वर्णवाल और क्षेत्रीय प्रबंधक अरविंद कुमार के नेतृत्व में चला।

कम समय में पटना से हाजीपुर पहुंच सकेंगे लोग

परिवहन निगम के प्रशासक श्याम किशोर ने बताया कि अब कम समय में लोग हाजीपुर पहुंच जाएंगे। जेपी सेतु बनने का लाभ आम जनता को मिलेगा। सोनपुर और हाजीपुर जाना अब आसान हो जाएगा। हाजीपुर तक 444-ए नंबर की चार बसें दिन में कई चक्कर लगाएंगी। ठहराव के साथ किराया तय करके बस परिचालन प्रारंभ कर दिया जाएगा। इसकी घोषणा जल्द कर दी जाएगी। रूट में कोई बाधा नहीं है। अटल पथ में चार स्थानों पर बस स्टॉप बने हुए हैं। बस स्टॉपेज की भी घोषणा की जाएगी। पटना जंक्शन से जोडऩे के कारण यात्री मिलेंगे।

दीघा-आर ब्‍लॉक पथ में चार स्‍थानों पर ठहराव

अटल पथ में चार स्थानों पर ठहराव दिया गया है। इसकी संख्या बढ़ सकती है। आर ब्लॉक से खुलने के बाद सिटी बस बस पुनाईचक रुकेगी। विमर्श चल रहा है कि बेली रोड फ्लाईओवर के नीचे से बस ले जाई जाए। ताकि बेलीरोड से भी यात्री सिटी बस में सवार हो सकें। पूर्व से सचिवालय, पुनाईचक, महेशनगर, राजीवनगर रोड आठ के सामने बस स्टॉप बने हुए हैं।

गांधी सेतु होकर हाजीपुर के लिए चल रहीं 12 सिटी बसें

गांधी मैदान से गांधी सेतु होते हुए हाजीपुर के लिए अभी 12 सिटी बसें चल रही हैं। इनमें से चार बसें अटल पथ होते हुए चलने लगेंगी। परिचालन सफल होने के बाद बसों की संख्या बढ़ाने की तैयारी है। बस फ्लाईओवर के ऊपर से चलेंगी। चढ़ान वाले स्थानों पर बसों का स्टॉप देने की योजना है।

 

Categories: Bihar News

Republic Day: पटना में खादी बोर्ड ने शुरू की राष्ट्रीय झंडे की बिक्री, बिहार में 'तिरंगा' साड़ी की धूम

Dainik Jagran - 36 min 51 sec ago

पटना, जागरण संवाददाता। Republic Day Celebration in Bihar: बिहार राज्य खादी ग्रामोद्योग बोर्ड ने मंगलवार से राष्ट्रीय झंडे की बिक्री शुरू कर दी। यहां पर छह साइज के झंडे लोगों को मुहैया कराए जा रहे हैं। इसके अलावा पहली बार 'तिरंगा' साड़ी भी बोर्ड ने उतारी है। इसे लोग काफी पसंद कर रहे हैं। कर्नाटक के हुबली से राष्ट्रीय ध्वज मंगाए गए हैं।

दरभंगा के कारीगरों ने तैयार की है तिरंगा साड़ी

राजधानी के खादी मॉल के प्रबंधक रमेश चौधरी के अनुसार मॉल में राष्ट्रीय झंडे की बिक्री शुरू कर दी गई है। यहां से झंडे प्रतिवर्ष राज्य के विभिन्न जिलों में भेजे जाते हैं। इसके अलावा विधान सभा एवं पटना उच्च न्यायालय में भी यहीं से राष्ट्रीय झंडे जाते हैं। प्रबंधक के अनुसार पहली बार बोर्ड की ओर से तिरंगे में साड़ी उतारी गई है। इसे दरभंगा के कारीगरों ने तैयार किया है। इस 'तिरंगा' साड़ी की मांग न केवल राजधानी में हो रही है बल्कि ऑनलाइन भी काफी संख्या में हो रही है।

राष्ट्रीय झंडे के साइज व कीमत

टेबल फ्लैग : 150 रुपये

कार फ्लैग : 180 रुपये

2 बाई 3 फीट - 814 रुपये

3 बाई 4.5 फीट - 1733 रुपये

4 बाई 6 फीट - 2048 रुपये

9 बाई 6 फीट - 3400 रुपये

'तिरंगाÓ साड़ी : 2500 रुपये

गांधी मैदान में दिखेगी 'आत्मनिर्भर बिहार' से लेकर 'कोल्हुआ' तक की झलक

गणतंत्र दिवस के अवसर पर गांधी मैदान में आयोजित समारोह के दौरान आत्मनिर्भर बिहार से लेकर वैशाली के कोल्हुआ से जुड़े पर्यटक स्थलों तक की झलक दिखेगी। दस विभागों की झांकी निकाली जाएगी। हालांकि जन सामान्य इन झांकियों का प्रत्यक्ष दीदार नहीं कर सकेंगे। कोरोना की वजह से समारोह में आम लोगों का प्रवेश प्रतिबंधित रहेगा।

झांकियों का निर्माण श्रीकृष्ण मेमोरियल हॉल के बाहर पंडाल लगाकर किया जा रहा है। कला संस्कृति विभाग द्वारा बुद्ध सम्यक दर्शन संग्रहालय सह स्मृति स्तूप की झांकी तैयार की जा रही है। पर्यटन निदेशालय वैशाली के कोल्हुआ से जुड़े मुख्य पर्यटक स्थलों के दृश्यांकन की तैयारी में है। भवन निर्माण विभाग की झांकी में बापू टावर दिखाए जाएंगे। कृषि विभाग कृषि निवेश प्रोत्साहन नीति थीम पर आधारित झांकी दिखाएगा।

शिक्षा विभाग 'ऑनलाइन शिक्षा वक्त की जरूरतÓ थीम पर झांकी की प्रस्तुति करेगा। स्वास्थ्य विभाग की थीम कोरोना काल को देखते हुए 'जब तक दवाई नहीं तब तक ढिलाई नहींÓ होगी। महिला विकास निगम और जीविका द्वारा 'सशक्त महिलाÓ की झलक दिखाई जाएगी। सूचना व जनसंपर्क विभाग जल-जीवन-हरियाली या इको टूरिज्म पर झांकी तैयार करेगा। जल संसाधन विभाग की थीम 'हर खेत को पानीÓ पर आधारित होगा।

जिलाधिकारी डॉ. चंद्रशेखर सिंह के स्तर से सभी विभागों को ट्रक उपलब्ध करा दिए गए हैं। 22 जनवरी तक झांकी की तैयारी पूरी कर लेनी है। 24 जनवरी को झांकियों का पूर्वाभ्यास होगा।

 

Categories: Bihar News

बिहार पंचायत चुनाव की मतदाता सूची का ड्राफ्ट प्रकाशित, अभी दावा और आपत्ति के लिए है मौका

Dainik Jagran - 59 min 47 sec ago

पटना, जागरण संवाददाता। Bihar Panchayat Chunav: बिहार पंचायत चुनाव के लिए मतदाता सूची के ड्राफ्ट का प्रकाशन (Draft Publication for Voter's List) मंगलवार को कर दिया गया है। अब इस ड्राफ्ट के आधार पर दावा या आपत्ति (Time to make claim against draft voter roll) दायर की जा सकती है। दूसरी और प्रशासन के स्तर पर 25 जनवरी को राष्ट्रीय मतदाता दिवस (National Voter's Day) के आयोजन की तैयारी की जा रही है। अधिवेशन भवन (Adhiveshan Bhawan) में यह आयोजन होगा। जिलाधिकारी डॉ. चंद्रशेखर सिंह (Dr. Chandrashekhar) की अध्यक्षता में जिला स्तरीय अधिकारियों के साथ इसके लिए बैठक की गई।

कोविड प्रोटोकॉल का पालन करते हुए आयोजित होगा समारोह

डीएम ने बताया कि समारोह में कोविड प्रोटोकॉल (Covid Protocall) का पालन कराने का निर्देश दिया गया है। सिविल सर्जन पटना को कार्यक्रम स्थल पर स्वास्थ्य कर्मियों की टीम की प्रतिनियुक्ति कर सैनिटाइजेशन एवं थर्मल स्क्रीनिंग की समुचित व्यवस्था को कहा गया है। इस अवसर पर नवपंजीकृत निर्वाचकों के लिए वोटर आइडी (इपिक) का वितरण होगा। ईवीएम और वीवीपैट का प्रदर्शन कर लोगों को जागरूक किया जाएगा।

कार्यक्रम की लाइव वेबकास्टिंग का इंतजाम

समारोह में मगध महिला कॉलेज (Magadh Mahila College) की निर्वाचक साक्षरता क्लब (Voters awareness club) की छात्राओं द्वारा निर्वाचन से संबंधित गतिविधियों का प्रदर्शन किया जाएगा। कार्यक्रम की लाइव वेबकास्टिंग करने का निर्देश दिया गया है। समारोह में स्टेट आइकॉन एवं जिला आइकॉन भी भाग लेंगे। जिला आइकॉन के रूप में कबड्डी खिलाड़ी शमा परवीन मौजूद रहेंगी।

विधि-व्‍यवस्‍था के लिए तैनात रहेगा पुलिस बल

डीएम ने कार्यक्रम के शांतिपूर्ण आयोजन और विधि-व्यवस्था बनाए रखने के लिए पर्याप्त संख्या में दंडाधिकारी, पुलिस पदाधिकारी एवं पुलिस बल की प्रतिनियुक्ति करने का निर्देश दिया है। बैठक में उप विकास आयुक्त रिची पांडेय, अपर समाहर्ता राजस्व राजीव श्रीवास्तव, अपर समाहर्ता सामान्य विनायक मिश्रा, निर्वाचन विभाग बिहार के प्रतिनिधि अशोक प्रियदर्शी सहित कई अन्य अधिकारी उपस्थित रहे।

    

Categories: Bihar News

गांव के ही अस्‍पताल में पटना के बड़े डॉक्‍टरों से करा सकेंगे इलाज, 26 से होगा सेवा का शुभारंभ

Dainik Jagran - 1 hour 38 min ago

पटना, जागरण संवाददाता। Health Facilities in Patna: राजधानी समेत प्रदेश के तमाम जिलों के गांवों तक में रहने वालों को अब आसपास के नजदीकी अस्पताल में ही विशेषज्ञ डॉक्टरों का उपचार मिल सकेगा। इसके लिए संजीवनी सेवा के तहत टेलीमेडिसिन सेवा का शुभारंभ 26 जनवरी को मुख्यमंत्री नीतीश कुमार करेंगे। इसकी तैयारियों के तहत सोमवार को राजधानी के संपतचक और पुनपुन प्रखंड के अस्पतालों की एएनएम को प्रशिक्षण देने के साथ आवश्यक टैक, फोन जी सिम व अन्य आवश्यक उपकरण उपलब्ध कराए गए।

क्या चल रहीं तैयारियां

शुरुआती दौर में एएनएम अपने टैब के माध्यम से नजदीकी प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र और रेफरल अस्पताल में बैठे डॉक्टरों के परामर्श पर रोगी को आवश्यक दवाएं और अन्य परामर्श देंगी। फिलहाल ये सेवा ओपीडी के समय ही उपलब्ध रहेगी। प्रदेश के सभी नौ मेडिकल काॅलेजों को इसका हब बनाया जाएगा। वहां एक सेंटर होगा जहां विशेषज्ञ डॉक्टर उपलब्ध रहेंगे और रोगियों को परामर्श देंगे।

क्या है योजना

टेलीमेडिसिन संजीवनी सेवा का राज्य में इतिहास करीब दस वर्ष पुराना है। वर्ष 2012 में पीएमसीएच में टेलीमेडिसिन का एक केंद्र बनाया गया था। हालांकि, कुछ ही माह में वह बंद हो गई। इसके बाद एम्स पटना के पूर्व निदेशक डॉ. जीके सिंह ने इसकी शुरुआत की लेकिन वह भी अपने लक्ष्य में सफल नहीं हो सकी। दो वर्ष पूर्व बक्सर सदर अस्पताल को पटना एम्स से जोडा गया।

पुराने अनुभवों को देखते हुए इस बार सरकार सुनियोजित ढंग से इसकी शुरुआत कर रही है। पहले एएनएम को प्रशिक्षित किया जा रहा है। उन्हें टैब पर फोर जी इंटरनेट स्पीड मुहैया कराई जा रही है। एएनएम टैब को इलाज के सिवाय को अन्य इस्तेमाल नहीं कर सकें इसलिए उसे सर्वर से नियंत्रित किया जाएगा। शुरुआत में रोगियों की समस्याओं को समाधान नजदीकी अस्पतालों में बैठे डॉक्टर के परामर्श पर एएनएम ही करेंगी। इसके बाद यदि जरूरत हुई तो उन्हें अस्पताल भेजकर आवश्यक जांच कराई जाएंगी। यदि रेफर करने की जरूरत हुई तो वहां के डॉक्टर सारी रिपोर्ट वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए वहां के डॉक्टरों को भेजकर समाधान प्राप्त करेंगे। इसके बाद यदि मल्टी सुपरस्पेशियलिटी इलाज की जरूरत हुई तो मेडिकल कॉलेज या अन्य अस्पतालों के विशेषज्ञों से बात कर इलाज किया जाएगा।

क्या होगा फायदा

घर बैठे बहुत से रोगों का समाधान हो सकेगा। अन्य छोटे-छोटे रोगों का इलाज नजदीकी अस्पताल में और मेडिसिन से ठीक होने वाले अन्य जटिल रोगों का उपचार रेफरल अस्पताल में हो सकेगा। इससे मेडिकल कॉलेजों में केवल वही रोगी पहुंचेंगे जिन्हें वास्तव में वहां आने की जरूरत होगी। इससे मेडिकल कॉलेजों में इलाज की गुणवत्ता में सुधार होगा और शोध कार्य किए जा सकेंगे।

Categories: Bihar News

बेटे ने ही गला दबाकर की थी मां की हत्या, गिरफ्तार

Dainik Jagran - 6 hours 27 min ago

नौबतपुर। पिछले साल लॉकडाउन के दौरान नौबतपुर थाना क्षेत्र के नवडीहा गांव में 11 जून को घर में घुसकर हुई महिला की हत्या मामले का पुलिस ने मंगलवार को पर्दाफाश कर दिया। पुलिस ने उस महिला के बड़े बेटे रंजीत उर्फ विदेशी को ही हत्यारोपी बताया है। यह अलग बात है कि महिला के पति रामबाबू राय ने इस मामले में गांव के ही तिज्जू पासवान और तीन अज्ञात को आरोपित करते हुए तत्समय प्राथमिकी दर्ज कराई थी। पुलिस की जांच में यह बात झूठी निकली और बेटे को दोषी पाया गया।

अनुसंधान के क्रम में जब पुलिस ने बेटे रंजीत को गिरफ्तार कर पूछताछ किया तो उसने सब उगल दिया। अपने स्वीकारोक्ति बयान में उसने बताया है कि मां चंद्रावती देवी सूद पर पैसे देने का कारोबार करती थीं। बैंक और गांव के ही कई लोगों से उधार में पैसे लेकर ब्याज पर देती थीं। समय पर कोई भी व्यक्ति सूद का पैसा नही लौटाता था। जिन लोगों से मां ने पैसे उधार लेकर सूद पर उठाया था, उनका पैसा वापस करने के लिए दबाव पड़ रहा था। लिहाजा, तीन कट्ठा जमीन बेचकर बैंक और कुछ अन्य लोगों का कर्ज लौटाया गया। हम लोग बार-बार सूद पर पैसे देने का कारोबार बंद करने के लिए दबाव बनाते थे, लेकिन वह मान नहीं रही थीं। मना करने के बाद भी पुन: तिज्जू पासवान से पैसा कर्ज पर लेकर सूद पर लगा दिया। तिज्जू बार-बार पैसा मांग रहा था। पैसा लौटने के लिए फिर से दो कट्ठा जमीन एग्रीमेंट करना पड़ा। घटना वाले दिन 11 जून को शाम 4 बजे तिज्जू पासवान से मेरी मां की पैसे को लेकर बहस हुई। इसी का फायदा उठाकर रात में मैंने मां का गला दबाकर हत्या कर दी और सोने चला गया। सुबह जैसे ही घटना की जानकारी हुई, पूरे इलाके में चर्चाएं शुरू हो गई। पुलिस भी एक वृद्ध महिला की हत्या को लेकर अचंभित थी।

मालूम हो कि नौबतपुर के नवडीहा में बीते साल 11 जून को घर में सोई महिला की गला दबाकर हत्या कर दी गई थी। लॉकडाउन में हुई इस घटना ने पुलिस की नींद उड़ा दी थी। मृत महिला के पति रामबाबू राय ने गांव के ही तिज्जू पासवान को आरोपित कर मामला दर्ज कराया था। घटना के बाद पुलिस ने मामले की जांच शुरू की तो असलियत कुछ दूसरी ही निकली। -------

घटना के दिन से ही मृतक महिला का बड़ा पुत्र रंजीत उर्फ विदेशी शक के घेरे में था। घटना के बाद से ही वह गांव छोड़ अपनी ससुराल में रह रहा था। साक्ष्य इकट्ठा होने के बाद जब उसे गिरफ्तार किया गया, तब उसने पुलिस को सबकुछ बता दिया।

-सम्राट दीपक, थानाध्यक्ष, नौबतपुर

Categories: Bihar News

ट्रैक्टर चालक की मौत से नाराज लोगों ने किया सड़क जाम

Dainik Jagran - 6 hours 30 min ago

फतुहा। ट्रैक्टर पलटने से चालक की मौत हो जाने से आक्रोशित लोगों ने मंगलवार को फतुहा-पटना स्टेट हाइवे पर जेठुली गांव के समीप सड़क जाम कर दिया। सूचना मिलने पर पहुंची नदी थाने की पुलिस ने ग्रामीणों को समझा-बुझाकर आधे घंटे के अंदर जाम को हटवा दिया। ग्रामीणों ने बताया कि सोमवार की देररात दीदारगंज थाना क्षेत्र के सोनामा बांध पर हिरानंदपुर गांव के समीप एक सीमेंट लदा ट्रैक्टर असंतुलित होकर पलट गया था। उस दुर्घटना में ट्रैक्टर चालक नदी थाना क्षेत्र के जेठुली गांव निवासी 35 वर्षीय नीतीश कुमार को घटनास्थल पर ही मौत हो गई। दीदारगंज पुलिस ने शव को अपने कब्जे में लेकर उसका पोस्टमॉर्टम कराने के लिए पटना भेज दिया। मंगलवार को जैसे ही चालक का शव जेठुली गांव में पहुंचा, ग्रामीणों ने शव को बीच सड़क पर रखकर फतुहा पटना स्टेट हाइवे को जाम कर दिया। ग्रामीण मृतक के स्वजनों को समुचित मुआवजा देने की मांग कर रहे थे। राज्यमार्ग जाम होने की सूचना मिलने पर नदी थाने की पुलिस पहुंची और ग्रामीणों को समझाकर जाम हटवा दिया। अधिकारियों ने मुआवजा दिलाने का आश्वासन दिया है। भूमि विवाद में चले लाठी-डंडे, आधा दर्जन जख्मी, दो रेफर

बिहटा। थाना क्षेत्र के बभनलई गांव में भूमि विवाद को लेकर मंगलवार को दो पक्ष आपस भिड़ गए। झगड़े के दौरान जमकर लाठी-डंडे चले। इसमें करीब आधा दर्जन लोग जख्मी हो गए हैं। सूचना पर आसपास के लोगों ने आनन-फानन में जख्मी को उठाकर बिहटा के निजी अस्पताल में भर्ती कराया। जहां से चिकित्सकों ने बाप व बेटे को गंभीर हालत में रेफर कर दिया। उनकी हालत चिंताजनक बताई जा रही है। गंभीर जख्मी युवकों में बभनलई गांव निवासी 60 वर्षीय इंद्रदेव सिंह और उनका 32 वर्षीय पुत्र दीपक कुमार बताया गया है। जानकारी के अनुसार इंद्रदेव सिंह व महेश सिंह का बिहटा की चार कट्ठा जमीन को लेकर पूर्व से ही विवाद चल रहा है। इसी कारण मंगलवार को दोनों पक्षों में भिड़ंत हो गई।

Categories: Bihar News

नगर परिषद में शामिल करने के खिलाफ आज बिहटा बंद

Dainik Jagran - 6 hours 32 min ago

बिहटा। नगर परिषद में बिहटा को शामिल किए जाने के खिलाफ व्यवसायियों ने बुधवार को चार घंटे के लिए बिहटा बाजार बंद करने का निर्णय लिया है। मंगलवार को रामजानकी ठाकुरबाड़ी में बुद्धिजीवियों ने एक बैठक की। इसमें चरणबद्ध आंदोलन की रूपरेखा तैयार की गई। पहले चरण में मंगलवार को नागरिकों व व्यवसायियों ने काली पट्टी बांधकर विरोध जताया और सरकार से उनका अनुरोध मानने की अपील की।

आमहारा के पूर्व मुखिया डॉ. आनंद ने बताया कि अगर राज्य सरकार अपना फैसला वापस नहीं लेती है तो बिहटा में स्थित सभी प्रतिष्ठानों को अनिश्चितकालीन के लिए बंद कराया जाएगा। उन्होंने कहा कि सरकार के निर्णय का स्थानीय लोग समर्थन नहीं करते हैं। सरकार द्वारा घोषित नगर पालिका अधिनियम के अनुसार बिना पूरी जांच कराए ही बिहटा को नगर परिषद बनाने का निर्णय ले लिया गया है। यह पूरी तरह असंवैधानिक है। पूर्व से स्थापित एवं कार्यरत स्थानीय पंचायत राज सरकार को भी विश्वास में नहीं लिया गया, जिससे सभी पंचायत प्रतिनिधियों में व्यापक रोष है। वहीं बुधवार को बाजार बंदी होने से लोगों को कई मुश्किलों का सामना करना पड़ेगा। दरअसल, बंदी में दवा दुकानों ने भी हिस्सा लेने का निर्णय लिया है। मौके पर मनीष कुमार चितरंजन सिंह, धर्मेद्र कुमार, संजय कुमार, बीककी कुमार, मंगरू, भुअर सिंह, कुश कुमार, मुकुंद कुमार, दीपक सिंह सहित अन्य कई लोग मौजूद रहे।

दहेज के लिए विवाहिता को जलाकर मारने का आरोप

बाढ़। एनटीपीसी थाना के दरियापुर गांव में दहेज के लिए एक विवाहिता को जलाकर मार डालने का मामला प्रकाश में आया है। इस बाबत मोर सुल्तानपुर निवासी मृतका के पिता गोविद महतो ने पटना पुलिस को दिए गए बयान के आधार पर एनटीपीसी थाने में मुकदमा दर्ज कराया है।

थानाध्यक्ष अमरदीप कुमार ने बताया कि पीड़ित के अनुसार उसकी पुत्री आरती की शादी जून माह में एनटीपीसी थाना क्षेत्र के दरियापुर गांव निवासी संजीव से हुई थी। शादी के बाद से ससुराल वाले उसकी पुत्री को दहेज के लिए प्रताड़ित कर रहे थे। इसकी शिकायत बेटी द्वारा बार-बार की जाती थी। इस दौरान समझौते का प्रयास भी किया गया, पर वह विफल रहा। पीड़ित के अनुसार आठ दिसंबर को उन्हें सूचना मिली कि उनकी पुत्री को आग लगाकर जलाने का प्रयास किया गया। सूचना के बाद जब वे लोग पहुंचे तो पुत्री को जली अवस्था में पाया। स्थिति गंभीर रहने के कारण पुत्री को उपचार के लिए पटना में भर्ती कराया गया। जहां उपचार के दौरान उसकी मौत हो गई। पटना पुलिस ने मृतका के पिता गोविद महतो का बयान दर्जकर कर लिया है। एनटीपीसी पुलिस ने फर्द बयान के आधार पर पति समेत तीन के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की है।

Categories: Bihar News

बिहटा में राम भक्तों ने निकाली शोभा यात्रा, लगाए जयकारे

Dainik Jagran - 6 hours 35 min ago

बिहटा। श्रीराम जन्मभूमि मंदिर निर्माण समर्पण निधि अभियान के तहत मंगलवार को बिहटा के परेव से प्रदेश संयोजक जीवन कुमार के नेतृत्व में राम भक्तों ने शोभा यात्रा व बाइक रैली निकाली। इस दौरान पूरा इलाका 'जय श्रीराम' और 'रामलला हम आएंगे, मंदिर वहीं बनाएंगे' के नारों से गूंज उठा। परेव से शुरू हुई शोभायात्रा व बाइक रैली में विभिन्न हिदू संगठनों के कार्यकर्ताओं के साथ तमाम रामभक्त शामिल हुए। रैली से पूर्व पूजा-अर्चना की गई। इससे पहले रामभक्तों का तिलक लगाकर स्वागत किया गया। रैली बिहटा के परेव से होते हुए बिदौल, महुआर लई, इटवा, दोघड़ा सहित 17 गांवों में घूमते हुए पुन: परेव पहुंच समाप्त हुई। यहां सभा हुई, जिसमें मुख्य वक्ता जीवन कुमार ने भगवान राम के आदर्शो पर प्रकाश डाला और सभी से उनके आदर्शो को अपनाने की अपील की। इसके साथ सभी से निधि समर्पण में सहयोग करने का अनुरोध किया गया। जीवन कुमार ने बताया, अयोध्या में श्रीराम मंदिर का निर्माण भी शुरू हो चुका है। मंदिर निर्माण को लेकर हर गांव के लोग इसमें अपने अनुसार सहयोग करें। मौके पर जिला पार्षद उपाध्यक्ष ज्योति सोनी, मुखिया पिकी देवी, नरेश सिंह, संजीव पांडेय, चंदन कुमार, पुतुल कुमार, गुड्डू कुमार, सोनू कुमार आदि प्रमुख थे।

राम मंदिर निर्माण के लिए आरएसएस ने किया धन संग्रह

फतुहा। स्थानीय दरियापुर व स्टेशन रोड सहित अन्य स्थानों पर मंगलवार को राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के कार्यकताओं ने अभियान प्रमुख रामचंद्र प्रसाद के नेतृत्व में अयोध्या में श्रीराम मंदिर निर्माण के लिए धन संग्रहित किया। रामचंद्र प्रसाद ने बताया कि कटैया स्थान के महंत राम सुंदर शरण ने 1100 रुपये की समर्पण राशि का सहयोग देकर अभियान का शुभारंभ किया। इस अभियान में फतुहा के शहरी व ग्रामीण क्षेत्रों में टोली बनाकर आरएसएस व भाजपा कार्यकर्ता धन संग्रह कर रहे हैं। यह अभियान निरंतर जारी रहेगा। मौके पर अभियान सह प्रमुख विजय कुमार वत्स, हिसाब-किताब प्रमुख मनोज कुमार आर्य, विशाल कुमार व नवल पासवान सहित अन्य मौजूद थे।

Categories: Bihar News

टै्रवल एजेंसी पर छापा, 22.69 लाख के रेल टिकट बरामद

Dainik Jagran - 6 hours 37 min ago

पटना : जक्कनपुर थाना क्षेत्र के पोस्टल पार्क स्थित साइबर जोन दुकान में आरपीएफ द्वारा मारे गए छापे में 22 लाख 69 हजार 800 रुपये के रेल टिकट बरामद किए गए।

आरपीएफ इंस्पेक्टर बीके सिंह ने बताया कि उन्हें सूचना मिली थी कि साइबर जोन से रेल टिकट की बुकिंग की जा रही है। तीन दिनों से सिविल ड्रेस में रेकी की जा रही थी। मंगलवार सुबह में तत्काल टिकट की बुकिंग के लिए संपर्क किया गया था। टिकट बुक होने के बाद उसे पकड़ लिया गया। इसके बाद दुकान की तलाशी ली गई। इस दौरान उसके लैपटाप व कंप्यूटर से 22 लाख 69 हजार 800 रुपये के टिकट बुक कराए जाने के प्रमाण मिले। दुकान से लैपटॉप व कंप्यूटर के साथ ही तीन मोबाइल भी जब्त किए गए। दुकान से कुछ रजिस्टर भी मिले हैं जिससे कई लोगों के इस धंधे में शामिल होने के प्रमाण मिले हैं। दुकानदार अमरीश कुमार एवं उसके कर्मचारी बब्लू को आरपीएफ ने गिरफ्तार कर लिया है। दोनों से पूछताछ की जा रही है। तकनीकी सेल की ओर से जब्त कंप्यूटर व लैपटॉप की जांच की जा रही है। दुकानदार की ओर से आइआरसीटीसी की ओर से टिकट बुक करने का लाइसेंस भी लिया गया है। परंतु लाइसेंस आइडी के अलावा 131 पर्सनल आईडी से भी उसके द्वारा टिकट की बुकिंग की गई है। अभी जांच चल ही रहा है। उसके पास से आगे की तिथि के 30,890 रुपये के टिकट बरामद किए गए। इन टिकट को ब्लॉक कर दिया गया है ताकि कोई इस पर यात्रा न कर सके। दोनों को बुधवार को जेल भेजा जाएगा।

Categories: Bihar News

हांडी साहेब गुरुद्वारे में श्रद्धालुओं ने टेका मत्था, छका लंगर

Dainik Jagran - 6 hours 38 min ago

दानापुर। दशमेश गुरु गोविंद सिंह के 354वें प्रकाशोत्सव को लेकर हांडी साहब गुरुद्वारा में ग्रंथी सतलोक सिंह व कुलदीप सिंह की देखरेख में अखंड पाठ शुरू हुआ। यह अखंड पाठ बुधवार को संपन्न होगा। मंगलवार को हांडी साहब गुरुद्वारा में विभिन्न प्रदेशों से पटना साहिब गुरुद्वारा आने वाले श्रद्धालु दानापुर पहुंचते रहे। इसी क्रम में अमृतसर से आए कथावाचक ज्ञानी पींदरपाल सिंह अपने जत्थे के साथ हांडी साहब गुरुद्वारा पहुंचे और मत्था टेक चरण चिह्न का दर्शन किया। 'वाहे गुरु जी' के नारे के साथ श्रद्धालु मत्था टेककर गुरु गोविंद सिंह के चरण चिह्न का दर्शन करते रहे। कोरोना संक्रमण के कारण इस बार श्रद्धालुओं की भीड़ कम दिखी। लुधियाना से आए जगतार सिंह उर्फ बिट्टू बाबा व उनके जत्थे के साथ दानापुर गुरुद्वारा कमेटी के लोग लंगर व अन्य व्यवस्थाओं में लगे रहे। स्थानीय संगत के ज्योति स्वरूप मोहन सिंह व शक्ति सिंह ने बताया कि बुधवार को विशेष उत्सव होगा। उस दिन अखंड पाठ की समाप्ति के बाद दो घंटे का कीर्तन प्रवाह होगा। रात्रि में 51 पाउंड का केक काटा जाएगा। दूरदराज से आए लोग लंगर छकने के बाद सेवा में जुटे रहे। गुरु गोविद सिंह के 354वें प्रकाशोत्सव में शामिल होने के लिए देश के कोने-कोने से आया सिख श्रद्धालुओं का जत्था मंगलवार को भी हांडी साहेब गुरुद्वारा में मत्था टेक लंगर चखता रहा। विभिन्न प्रदेशों से दर्शन के लिए आए लोगों ने बताया, इससे बढ़कर कुछ नहीं हो सकता कि हम लोगों को गुरु नगरी में सेवा का मौका मिला। गुरु नगरी पहुंचकर बहुत अच्छा लगा।

दानापुर में ड्यूटी को लेकर दो सिपाही आपस में भिड़े

दानापुर। नगर के सगुना मोड़ चेकपोस्ट पर तैनात दो सिपाही ड्यूटी को लेकर मंगलवार को मारपीट पर उतारू हो गए। देर शाम चेकपोस्ट पर ही दोनों सिपाही आपस में मारपीट करने लगे। इससे दोनों को चोटें आई हैं। उन्हें मारपीट करते देख लोगों की भीड़ लग गई। चेकपोस्ट पर तैनात अन्य सिपाहियों ने बीच-बचाव कर मामला शांत कराया। बताया जाता है कि संतरी की ड्यूटी को लेकर सिपाही नवीन व अभिषेक के बीच विवाद होने लगा। देखते ही देखते दोनों आपस में मारपीट करने लगे। इससे चेकपोस्ट के बाहर लोगों की भीड़ जुट गई। वहीं थानाध्यक्ष अजीत कुमार साहा ने ऐसी किसी घटना से इन्कार कर दिया है।

Categories: Bihar News

पटना शहर ओडीएफ प्लस घोषित, अब गार्बेज फ्री सिटी को करेगा आवेदन

Dainik Jagran - 6 hours 40 min ago

पटना । भारत सरकार ने पटना नगर निगम क्षेत्र को दिसंबर 2020 के प्रभाव से ओडीएफ प्लस घोषित कर दिया है। पटना को खुले में शौचमुक्त घोषित करते हुए ओडीएफ प्लस का प्रमाणपत्र मंगलवार को मिल गया। अब पटना नगर निगम शहर को गार्बेज फ्री सिटी (कचरामुक्त शहर) बनने के लिए भारत सरकार को आवेदन देगा। महापौर सीता साहू और नगर आयुक्त हिमांशु शर्मा ने कहा कि अब पटना को कचरामुक्त शहर बनाना है। इसके लिए कार्य भी प्रारंभ हो गया है। पटना के लिए यह गर्व का विषय है। नजदीकी शौचालय की जानकारी गूगल टॉयलेट लोकेटर के माध्यम से आसानी से प्राप्त की जा सकती है।

: क्या है ओडीएफ प्लस :

आबादी के अनुपात में सरकार द्वारा तय किए गए निजी, सार्वजनिक एवं सामुदायिक शौचालयों की व्यवस्था होती है। तब वह खुले में शौचमुक्त (ओडीएफ) घोषित होता है। सभी शौचालयों में पानी, साफ सफाई एवं रखरखाव की मुकम्मल व्यवस्था पाए जाने पर यह सíटफिकेट मिलता है। गंदे पानी के पुन: उपयोग पर ओडीएफ प्लस-प्लस का प्रमाणपत्र मिलता है। इस दिशा में भी पटना आगे बढ़ा है। स्वच्छता सर्वेक्षण में कम से कम 300 अंक मिलने निश्चित हो गए हैं।

: गार्बेज फ्री सिटी स्टार रेटिंग की रणनीति पर चर्चा :

अपशिष्ट प्रबंधन के आधार पर शहर के गार्बेज फ्री सिटी बनने पर वन स्टार सिटी का दर्जा मिलेगा। पटना नगर निगम थ्री स्टार सिटी के लिए आवेदन देने के लिए तैयारी कर रहा है। : सíटफिकेशन के लिए अंक हासिल करने पर फोकस :

स्वच्छ सर्वेक्षण 2021 के तय मापदंडों के अनुसार ओडीएफ प्लस शहरों को 300 अंक तथा थ्री स्टार सिटी वाले शहरों को 600 अंक मिलते हैं। स्वच्छ सर्वेक्षण 2021 के सíटफिकेशन के लिए विभिन्न श्रेणी में 1800 अंक निर्धारित हैं। पटना नगर निगम द्वारा मापदंडों एवं प्रक्रियाओं को समय से पूर्ण कर कम से कम 900 अंक प्राप्त करने का लक्ष्य है। स्टार रेटिंग के लिए 28 जनवरी तक आवेदन करना अनिवार्य है।

: किस आधार पर शहरों को मिलती है स्टार रेटिंग :

- डोर टू डोर सेवा कवरेज

- वार्ड स्तर पर गीला, सूखा, घरेलू हानिकारक अपशिष्ट एवं सैनिट्री अपशिष्ट के अलग-अलग संग्रहण की व्यवस्था

- सार्वजनिक एवं व्यावसायिक क्षेत्रों की साफ-सफाई

- लिटरबिन की व्यवस्था

- गीले कचरे की प्रोसेसिंग की व्यवस्था एवं क्षमता

- सूखे कचरे की प्रोसेसिंग की व्यवस्था एवं क्षमता

- आम जन की शिकायतों के निवारण की व्यवस्था

Categories: Bihar News

सेंट्रलाइज्ड नेटवर्क से जुड़ेगा पटना विश्वविद्यालय

Dainik Jagran - 6 hours 44 min ago

पटना । अब पटना विश्वविद्यालय (पीयू) व इसके सभी कॉलेज हाई स्पीड नेटवर्क सिस्टम से जुड़ेंगे। इससे अब शोध कार्यो में भी गति मिलेगी। छात्रों को ऑनलाइन शिक्षा के लिए भी हाई स्पीड डाटा मिलेगा। इसके लिए केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद की पहल पर सूचना एवं तकनीक विभाग नेआठ करोड़ रुपये जारी किए हैं। इससे विवि के सभी कॉलेज अब एक नेटवर्क से जुड़ जाएंगे। इसके लिए एक जगह नेटवर्क बनेगा। इसके बाद सेंट्रलाइज्ड व्यवस्था के तहत सभी कॉलेजों को ऑप्टिकल फाइबर से जोड़ा जाएगा।

विश्वविद्यालय से दूर स्थित कॉलेजों को वाइ-फाइ से जोड़ा जाएगा। पीयू के अतिरिक्त पटना लॉ कॉलेज, पटना साइंस कॉलेज, पटना कॉलेज, वाणिज्य महाविद्यालय, दरभंगा हाउस, मगध महिला कॉलेज एवं बीएन कॉलेज को ऑप्टिकल फाइबर नेटवर्क से जोड़ा जाएगा। जबकि, पटना आर्ट कॉलेज एवं पटना प्रशिक्षण महाविद्यालय को वाइ-फाइ से जोड़ा जाएगा। इसके लिए पीयू विशेष जीबीपीएस बैंड विथ का कनेक्शन लेगा। इससे हाई स्पीड डाटा मिलेगा। इस कार्य को अर्नेट एजेंसी को सौंपा गया है।

-----------

: पीयू का परीक्षा विभाग होगा ऑनलाइन :

पटना विश्वविद्यालय अब यूनिवर्सिटी मैनेजमेंट इंफॉरमेशन सिस्टम (यूएमआइएस) तकनीक से जुड़ जाएगा। इससे पीयू का एडमिशन, परीक्षा व परिणाम की पूरी प्रक्रिया ऑनलाइन होगी। अभ्यर्थी ऑनलाइन ही नामांकन व काउंसिलिंग कराएंगे। ऑटोमेशन प्रक्रिया के तरह परीक्षा विभाग की पूरी प्रक्रिया ऑनलाइन रहेगी। कॉलेज व विश्वविद्यालय के छात्र-छात्राएं घर बैठे ही माइग्रेशन, अंक, प्रमाणपत्र के लिए ऑनलाइन आवेदन कर सकेंगे। इससे छात्रों को विवि का चक्कर लगाने से मुक्ति मिल जाएगी।

- - - - - - - - - - - - - - -

Categories: Bihar News

सीएम नीतीश कुमार ने रुपेश हत्‍याकांड पर डीजीपी को किया तलब,अपराधियों के जल्‍द गिरफ्तारी की दी हिदायत

Dainik Jagran - January 19, 2021 - 9:53pm

पटना, राज्य ब्यूरो । मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने मंगलवार (19 जनवरी) को डीजीपी एसके सिंघल को मुख्यमंत्री आवास तलब कर रुपेश सिंह हत्याकांड को ले चल रहे इंवेस्‍टीगेशन का अपडेट लिया। उन्होंने डीजीपी को  निर्देश दिया कि रुपेश हत्याकांड का जल्‍द उद्भेदन कर दोषियों की अविलंब गिरफ्तारी सुनिश्चित करें। इस तरह के मामले में पुलिस अपराधियों के खिलाफ पूरी सख्ती से पेश आए।

अन्‍य जिलों में भी त्‍वरित कार्रवाई के निर्देश

डीजीपी ने मुख्यमंत्री को हत्याकांड के अनुसंधान से जुड़े सभी तथ्यों से अवगत कराया। मुख्यमंत्री ने उन्हें यह निर्देश दिया कि राज्य के अन्य जिलों में भी इस तरह के लंबित मामलों में त्वरित कार्रवाई कर दोषियों को अविलंब गिरफ्तार किया जाए।  सरकार ऐसे मामलों में दोषियों की गिरफ्तारी को लेकर पूरी तरह संवेदनशील एवं गंभीर है। मुख्यमंत्री ने कहा कि ऐसे गंभीर मामलों में किसी भी तरह की शिथिलता बर्दाश्त नहीं की जाएगी।

एयरपोर्ट के पार्किंग विवाद में हुई रूपेश की हत्या

डीजीपी एसके सिंघल ने एयरपोर्ट पार्किंग के विवाद में रूपेश की हत्या किए जाने का शक जाहिर किया है। आज मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से मिलने के बाद बाहर निकले डीजीपी ने पत्रकारों से कहा कि एयरपोर्ट की पार्किंग को लेकर बहुत बड़ा विवाद चल रहा था। इसके अलावा उनके परिजनों या जान-पहचान वाले लोगों के ठेकेदारी से जुड़ा इश्यू भी आया था मगर इसमें कोई बात सामने नहीं आई है। मूल चीज यही है कि जो विवाद है वो रुपये-पैसे को लेकर या पार्किंग को लेकर ही लगता है। पुलिस ने ह्यूमन और तकनीकी इंटेलिजेंस की मदद ली है। इस मामले में थोड़ा और काम करने की जरूरत है कि केस स्ट्रॉंग बन जाए। हमें पूरा भरोसा है कि पुलिस केस का उद्भेदन कर लेगी।

जल्‍द होगा मामले का पर्दाफाश

 हत्या मामले में डीआरआइ कनेक्शन के बाबत पूछे जाने पर डीजीपी ने कहा कि मर्डर केस में कई सारे एंगल और कई सारी बातें आती हैं। कई एंगल पर पुलिस ने काम किया है। ऐसी कोई बात नहीं है।

 इस बाबत एडीजी मुख्यालय जितेंद्र कुमार ने कहा कि रूपेश हत्याकांड का अनुसंधान चल रहा है। सभी एंगल पर जांच की जा रही है। अभी तक जो इनपुट मिले हैं, उससे लग रहा है कि पुलिस जल्द ही इस मामले का पर्दाफाश कर देगी।

शूटर की तलाश में एसटीएफ-एसआइटी

पुलिस की अब तक की जांच में यह भी स्प्ष्ट हो गया है कि रूपेश की हत्या सुपारी देकर प्रोफेशनल शूटर से कराई गई थी। ऐसे में एसटीएफ के साथ एसआइटी की टीम शूटरों की तलाश में लगातार इनपुट जुटा रही है। पुलिस की अलग-अलग टीमें छापेमारी भी कर रही है। पुलिस सूत्रों का दावा है कि शूटर को गिरफ्तार करके ही पुलिस मामले का पर्दाफाश करेगी।

Categories: Bihar News

कश्मीर के बाद बंगाल चुनाव में भाजपा नेता शाहनवाज हुसैन को मिल सकती है बड़ी जिम्मेदारी

Dainik Jagran - January 19, 2021 - 9:53pm

पटना, रमण शुक्ला । पश्चिम बंगाल में विधानसभा चुनाव (West Bengal Assembly polls) के पहले शाहनवाज हुसैन (Shahnawaz Hussain) को मुख्यधारा की राजनीति (mainstream Politics) में लाने के पीछे भाजपा (BJP) का मकसद व्यापक हो सकता है। बिहार के सीमांचल में तो वे कारगर हो ही सकते हैं, पश्चिम बंगाल में भी भाजपा उन्हें भुना सकती है, जहां करीब सौ से ज्यादा विधानसभा सीटों पर मुस्लिम मतदाताओं (Muslim voters) की अच्छी तादाद है। यही नहीं, 70 से अधिक सीटों पर तो निर्णायक स्थिति में हैं।

कश्‍मीर में कमल खिलाने में शाहनवाज की बड़ी भूमिका

कश्मीर (Kashmir) में जिला विकास परिषद (डीएलसी) चुनाव में बतौर सह प्रभारी शाहनवाज ने खुद को साबित भी किया है। कश्मीर में कमल खिलाने में बड़ी भूमिका निभाई। पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती (Mehbooba Mufti ) और फारूख अब्दुला (Farooq Abdullah) परिवार के अभेद दुर्ग में भाजपा ने पैठ बनाने में कामयाब रही है। अब सीमांचल में असदुद्दीन ओवैसी (Assuddin Owaisi) की पार्टी ऑल इंडिया मजलिस ए इत्तेहादुल मुस्लिममीन ( AIMIM) की पांच सीटों पर कब्जे को भाजपा चुनौती के रूप में ले रही है।

बिहार में ही भाजपा अपने बूते सरकार नहीं बना पाई

दरअसल, हिंदी पट्टी के प्रदेशों में बिहार ही इकलौता ऐसा प्रांत है जहां भाजपा अभी तक अपने बूते सरकार नहीं बना पाई। शेष राज्यों में भाजपा झंडा गाड़ चुकी है। ऐसे में बतौर मुस्लिम चेहरा भाजपा बिहार में शाहनवाज हुसैन को आगे कर एक नई राजनीतिक प्रयोग करती दिख रही है। पार्टी पहले मुस्लिम बाहुल्य प्रदेशों जैसे जम्मू कश्मीर (Jammu and Kashmir) , पश्चिम बंगाल (West Bengal) , असम (Assam)  और केरल (Keral) में मुस्लिम चेहरों को आगे करके जमीन तैयार करने का सफल प्रयोग करती रही है।

अहम यह है कि असम जैसे राज्य जहां भाजपा ने बहुत देर से प्रवेश किया वहां भी भाजपा अपने पैरों पर सरकार बनाने में कामयाब रही है। अब बंगाल को भेदने में जुटी है। पर, भाजपा को इस बात का मलाल है कि बिहार उन राज्यों में है जहां पूरी संभावना के बाजवूद भी पार्टी अभी तक दोयम दर्जे की राजनीती करने को मजबूर दिख रही है।

बिहार में भाजपा की नई फील्डिंग

अपने इसी द्वन्द को तोड़ते हुए भाजपा के केंद्रीय नेतृत्व ने एक मजबूत कदम उठाते हुए एक ही झटके में बिहार में पूरी पार्टी को बदल दिया। पार्टी ने अपने पुराने सभी नेताओं को किनारे करते हुए नई फील्डिंग सजाई है।

भाजपा का नेतृत्व इस परिवर्तन का प्रयोग पूरे देश में पेश कर रही है। इस परिवर्तन के बाद अब विपक्षी दलों के सामने भाजपा को अल्पसंख्यक विरोधी करार देने में दिक्कत बढ़ेगी।

उधर, शाहनवाज के कंधे पर भी बड़ी चुनौती होगी की केंद्रीय नेतृत्व के उम्मीदों को पूरा करे। शाहनवाज को बिहार की राजनीति में तब उतारा जा रहा है जब उन्हेंं ना सिर्फ विपक्ष कांग्रेस और राजद से चुनौतियों का सामना करना है बल्कि जदयू से संबंधों के उतार चढ़ाव को भी सुनियोजित ढंग से पार पाना है।

Categories: Bihar News

Bihar Cabinet Decision : आतंकवाद, नक्सली हिंसा पीडि़तों के अनुदान की प्रक्रिया बदली

Dainik Jagran - January 19, 2021 - 9:53pm

पटना , राज्य ब्यूरो । राज्य के सरकारी विद्यालयों में पढऩे वाले तकरीबन दो करोड़ बच्चे अब जीविका दीदी और उद्यमिता विकास से संबद्ध क्लस्टर्स द्वारा सिली हुई स्कूल पोशाक पहनेंगे। राज्‍य में आतंकवाद, साम्प्रदायिक, नक्सली हिंसा से पीडि़तों को दिए जानेवाले अनुदान की आधी राशि फिक्स की जाएगीमंगलवार (19 जनवरी) को मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की अध्यक्षता में हुई राज्य मंत्रिमंडल की बैठक में शिक्षा विभाग के इस प्रस्ताव को स्वीकृति दे दी गई। आज की बैठक में 18 प्रस्ताव मंजूर किए गए।

अनुदान के प्रावधान में किए गए बदलाव

मंत्रिमंडल की बैठक के बाद कैबिनेट के प्रधान सचिव संजय कुमार ने बताया कि राज्य में आतंकवाद, साम्प्रदायिक, नक्सली हिंसा से पीडि़तों को दिए जाने वाले अनुदान के प्रावधानों में बदलाव किए गए हैं। केंद्र सरकार द्वारा संशोधित मार्गदर्शिका को राज्य में प्रभावी करने का फैसला मंत्रिमंडल ने लिया है। कैबिनेट के प्रधान सचिव संजय कुमार ने बताया कि आतंकवाद, साम्प्रदायिक, नक्सली हिंसा से पीडि़त किसी सामान्य व्यक्ति की मृत्यु पर उनके स्वजन को पांच लाख रुपये का अनुदान दिया जाता है। पहले अनुदान की पूरी राशि एक बार में जारी हो जाती थी। परन्तु अब 50 फीसद राशि स्वजन के बैंक खाते में जाएगी शेष 50 फीसद राशि तीन वर्ष के लिए फिक्स की जाएगी। जिसे समय पूर्व असाध्य रोग, परिवार में विवाह समारोह के लिए ही निकाला जा सकेगा।

स्‍कूली बच्‍चे पहनेंगे जीवकिा दीदी की सिली पोशाक

  राज्य के सरकारी स्कूल में पढऩे वाले कक्षा एक से 12 तक के छात्र-छात्राओं को पोशाक मुहैया कराने के लिए चार प्रकार की योजनाएं चल रही हैं। मुख्यमंत्री पोशाक योजना, मुख्यमंत्री बालिका पोशाक योजना, बालक पोशाक योजना और बिहार शताब्दी मुख्यमंत्री बालिका पोशाक योजना। योजना के तहत बच्चों को पोशाक खरीदने के लिए राशि बच्चों अथवा उनके अभिभावकों के बैंक खाते में भेजी जाती है।

अब मंत्रिमंडल ने बिहार ग्रामीण जीविकोपार्जन प्रोत्साहन समिति (जीविका) संपोषित सामुदायिक संगठनों और उद्योग विभाग अंतर्गत उद्यमिता विकास से संबद्ध क्लस्टर्स के माध्यम से दो सेट सिली हुई पोशाक खरीदने का फैसला किया है। प्रधान सचिव ने बताया कि पैसा पूर्व की तरह बच्चों के बैंक खाते में जाएगा, लेकिन बच्चे जीविका समूह और उद्यमिता विकास से संबद्ध क्लस्टर्स द्वारा सिले गए कपड़े ही खरीदेंगे। योजना अगले शैक्षणिक सत्र से प्रभावी होगी। इस योजना को चरणबद्ध तरीके से लागू करने के लिए शिक्षा विभाग, उद्योग विभाग, ग्रामीण विकास विभाग और वित्त विभाग मिलकर नियमावली बनाएंगे। सरकार के इस फैसले से जीविका समूह से जुड़ी महिलाओं के हुनर एवं कौशल का सार्थक उपयोग कर उनकी आय में बढ़ोत्तरी की जा सकेगी।

पुलिस सेवा में सीधी बहाली की न्यूनतम आयु 20 से 21 हुई

मंत्रिमंडल ने पुलिस सेवा में सीधी बहाली के लिए न्यूनतम उम्र सीमा को 20 वर्ष से बढ़ाकर 21 वर्ष कर दिया है। मंत्रिमंडल के प्रधान सचिव ने बताया कि स्नातक स्तरीय राज्य सेवा के असैनिक पदों पर सीधी नियुक्ति के लिए न्यूनतम उम्र सीमा 21 वर्ष है। असैनिक और पुलिस सेवा में नियुक्ति में एकरूपता लाने के लिए पुलिस सेवा में सीधी बहाली की न्यूनतम आयु सीमा को 20 से बढ़ाकर 21 वर्ष करने का फैसला किया गया है।

संविदा पर नियोजन के लिए विज्ञापन जरूरी :

मंत्रिमंडल ने सामान्य प्रशासन विभाग के एक प्रस्ताव पर विमर्श के बाद संविदा के आधार पर नियोजन की प्रक्रिया के लिए नए मार्गदर्शन और सिद्धांत को मंजूरी दी है। अब संविदा पर किसी की नियुक्ति में रोस्टर के सभी नियमों का पालन किया जाएगा। जितने पद स्वीकृत हैं, उन्हीं पर संविदा में बहाली होगी और बहाली के पूर्व इसका विज्ञापन आवश्यक रूप से प्रकाशित करना होगा।

17 नए पद किए गए सृजित :

मंत्रिमंडल ने राजकीय आरबीटीएस होमियोपैथिक मेडिकल कॉलेज अस्पताल मुजफ्फरपुर और राजकीय महारानी रमेश्वरी भारतीय चिकित्सा आयुर्विज्ञान संस्थान, दरभंगा के लिए केंद्रीय चिकित्सा परिषद के मापदंडों को पूरा करने के लिए 17 पद सृजन को मंजूरी दी है। इनमें तीन पद होमियोपैथिक कॉलेज के लिए तथा 14 पद आयुर्वेदिक कॉलेज के लिए होंगे।

अन्य फैसले -

* केंद्र की इंडिया रिजर्व पैटर्न पर सृजित अतिरिक्त आईआर बटालियन के पदों के नए नामांकन और पदों के सामंजन का प्रस्ताव मंजूर

* पर्यावरण, वन एवं जलवायु परिर्वतन विभाग में कार्यालय खर्च के लिए 10 करोड़ आकस्मिकता निधि से लेने की स्वीकृति

* अभियंत्रण शिक्षा सेवा नियमावली 2021 स्वीकृत, अभियंत्रण महाविद्यालयों में सहायक प्राध्यापक मैनेजमेंट की नियुक्ति का रास्ता साफ

* दिव्यांगजन अधिकार अधिनियम 2016 के अंतर्गत राज्य सेवाओं की नियुक्ति एवं शैक्षणिक संस्थानों में बहु दिव्यांगता को शामिल करने की मंजूरी

* राजस्व सेवा नियमावली 2019 की अनुसूची में स्वीकृत पद बल मे आंशिक संशोधन की मंजूरी

* बिहार कृषि सेवा उद्यान, रसायन, माप एवं तौल तथा पौधा संरक्षण भर्ती, प्रोन्नति सेवा शर्त नियमावली 2021 के गठन की स्वीकृति

* प्रशासनिक सुधार मिशन सोसायटी के कर्मचारियों के भुगतान के लिए 58 करोड़ आकस्मिकता निधि से अग्रिम लेने की स्वीकृति

* राजकीय संग्रहालय लिपिकीय संवर्ग नियमावली 2021 गठन की स्वीकृति

Categories: Bihar News

पटना जिले के मसौढ़ी प्रखंड के कृषि पदाधिकारी रहस्यमय ढंग से लापता

Dainik Jagran - January 19, 2021 - 9:23pm

पटना/मसौढ़ी, जागरण टीम । रूपेश हत्याकांड की गुत्थी अभी सुलझी नहीं कि अब मसौढ़ी प्रखंड के कृषि पदाधिकारी अजय कुमार के रहस्यमय ढंग से लापता होने की सूचना ने पुलिस की नींद उड़ा दी है। 24 घंटे बीत जाने के बाद भी उनका कोई सुराग नहीं मिला है। कृषि पदाधिकारी की पत्नी पूनम ने कंकड़बाग थाने में अपहरण की प्राथमिकी दर्ज कराई है। पुलिस कृषि पदाधिकारी को सकुशल बरामद करने में जुटी हुई है।

सुबह साढ़े सात बजे निकले, नहीं पहुंचे ऑफिस 

  अजय कुमार मूलरूप से लखीसराय के बड़हिया के रहने वाले हैं। उनकी तैनाती मसौढ़ी में है। जबकि वह परिवार के साथ कंकड़बाग के बुद्ध नगर रोड नंबर दो दक्षिणी चांदमारी में रहते हैं। बताया जा रहा है कि वह कोरोना पॉजिटिव हो गए थे। इसके बाद से वह घर पर ही थे। कुछ दिन पहले ही जांच रिपोर्ट निगेटिव आई। इसके बाद वह सोमवार को ऑफिस के लिए सुबह करीब सात बजे घर से मसौढ़ी के लिए निकले पर वह शाम को घर नहीं पहुंचे। पता करने पर मालूम चला कि वह ऑफिस भी नहीं पहुंच सके थे। वह अक्सर ट्रेन से मसौढ़ी जाते थे।

बंद है मोबाइल, मसौढ़ी में मिला लोकेशन

जांच में उनके मोबाइल की आखिरी लोकेशन मसौढ़ी प्रखंड के शर्मा गांव में मिली, हालांकि उनका मोबाइल बंद है। पुलिस मोबाइल की कॉल डिटेल निकालने में जुटी है। फुटेज भी खंगाल रही है। कंकड़बाग थाना प्रभारी रविशंकर सिंह ने बताया कि कृषि पदाधिकारी की तलाश की जा रही है। उन्हेंं सकुशल बरामद करने का प्रयास किया जा रहा है।

Categories: Bihar News

Bihar Cabinet Meeting: बिहार विधानमंडल का बजट सत्र 19 फरवरी से , 22 को पेश होगा बजट

Dainik Jagran - January 19, 2021 - 7:38pm

पटना, राज्य ब्यूरो ।  बिहार विधानमंडल का बजट सत्र (Budget session of Bihar Legislature) 19 फरवरी से होगा। करीब महीने भर चलने वाले सत्र के दौरान कुल 22 बैठकें होगी। 22 फरवरी को वित्तीय वर्ष 2021-22 का बजट (Budget of financial year 2021-22) सदन में पेश किया जाएगा। मंगलवार (19 January) को राज्य के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (CM Nitish Kumar ) की अध्यक्षता में हुई मंत्रिमंडल की बैठक (cabinet meeting)  में सप्तदश विधानसभा के दूसरे सत्र और विधान परिषद के 197वें सत्र के औपबंधिक कार्यक्रम का प्रस्ताव मंजूर किया गया।

22 फरवरी को पेश होगा बजट

मंत्रिमंडल सचिवालय से प्राप्त जानकारी के अनुसार सत्र के पहले दिन राज्यपाल फागू चौहान विधान मंडल के विस्तारित भवन के सेंट्रल हॉल में दोनों सदनों के सदस्यों को संबोधित करेंगे। पहले ही दिन सरकार सदन में आर्थिक सर्वेक्षण (Economic survey) भी पेश करेगी। इसके बाद शोक प्रकाश होगा। 20 और 21 फरवरी को बैठक नहीं होगी। 22 फरवरी को वित्तीय वर्ष 2021-22 का बजट सदन में पेश किया जाएगा। साथ ही राज्यपाल के अभिभाषण पर धन्यवाद प्रस्ताव और वाद-विवाद होगा। इसके अगले दिन अभिभाषण पर सरकार का जवाब आएगा। 24 फरवरी को वित्तीय वर्ष 2020-21 का द्वितीय अनुपूरक बजट सदन में पेश होगा। साथ ही 2021-22 के बजट पर सामान्य वाद विवाद भी इसी दिन प्रस्तावित है। 25-26 फरवरी को आगामी वर्ष के बजट पर वाद-विवाद और सरकार का जवाब होगा।

12 कार्य दिवस निर्धारित

27-28 मार्च को कोई बैठक प्रस्तावित नहीं है। एक मार्च से पांच मार्च के बीच 2021-22 की आय-व्यय के अनुदान मांगों पर वाद-विवाद मतदान होगा। छह और सात मार्च को बैठक नहीं होंगी। आठ से 10 मार्च के बीच भी 2021-22 की आय-व्यय के अनुदान मांगों पर वाद-विवाद मतदान प्रस्तावित है। 11 मार्च को महाशिवरात्रि की वजह से बैठक नहीं होगी। 12 मार्च को भी विभागों की अनुदान मांगों पर वाद-विवाद तथा मतदान होगा। 13 व 14 मार्च को बैठक नहीं होगी। अनुदान मांगों और विनियोग विधेयक के लिए सरकार ने कुल 12 कार्य दिवस निर्धारित किए हैं। 24 मार्च को गैर सरकारी सदस्यों के गैर सरकारी संकल्प लेने के साथ ही विधानसभा की कार्यवाही अनिश्चितकाल तक के लिए स्थगित हो जाएगी।

अगले सत्र से स्‍कूली छात्र-छात्राओं को मिलेंगे सिले हुए यूनिफॉर्म

आज कैबिनेट मीटिंग के बाद प्राप्त जानकारी के अनुसार राज्य के सरकारी स्कूलों में पढ़ने वाले छात्र-छात्राओं को मुख्यमंत्री बालिका, बालक पोशाक योजना के तहत प्रति वर्ष दो पोशाक देने का प्रावधान है। पोशाक योजना के लिए मुख्यमंत्री बालिका पोशाक योजना, मुख्यमंत्री शताब्दी पोशाक योजना संचालित है। सरकार ने फैसला लिया है कि स्कूली छात्र-छात्राएं को अब ग्रमीण जीविकोपार्जन प्रोत्साहन समिति, उद्योग विभाग के तहत उद्यमिता विकास संगठन से संबद्ध क्लस्टर के माध्यम से अगले सत्र से दो सेट सिली हुई स्‍कूल यूनिफॉर्म की खरीद कर दी जाएंगी। मंत्रिमंडल ने शिक्षा विभाग के इस प्रस्ताव को मंजूरी दे दी है।

मंत्रिमंडल ने भारत सरकार के इंडिया रिजर्व पैटर्न पर अतिरिक्त आइआर बटालियन के पदों के नए नाम निर्धारित करने का प्रस्ताव भी मंजूर किया है।

Categories: Bihar News

Guru Gobind Singh Jayanti 2021:तहीं प्रकाश हमारा भयो पटना शहर बिखे भव लयो... से गूंजी दशमेश गुरु गोविंद सिंह जी की नगरी

Dainik Jagran - January 19, 2021 - 7:29pm

पटना सिटी, जागरण संवाददाता । खालसा पंथ के संस्थापक श्री गुरु गोविंद सिंह के 354 वें प्रकाशोत्सव के पूर्व संध्या पर गायघाट गुरुद्वारा बड़ी संगत से दिन में लगभग 2.30 बजे श्री गुरुग्रंथ साहिब का नगर कीर्तन श्रद्धा व उत्साह के साथ निकाला गया। नगर कीर्तन में दर्जन भर कीर्तनी जत्था व पालकी के आगे पंज-प्यारे हाथ में तलवार लिए चल रहे थे। पालकी की सेवा तख्त श्री हरिमंदिर जी पटना साहिब के जत्थेदार भाई साहेब रंजीत सिंह गौहर-ए-मस्कीन, ग्रंथी दिलीप सिंह,ग्रंथी गुरदयाल सिंह व नवराज सिंह कर रहे थे। पालकी के साथ यमुनानगर के संत बाबा करमजीत सिंह, करनाल के संत योगा सिंह व प्रबंध समिति के पदाधिकारी व अन्य कर रहे थे।

नगर कीर्त्‍तन में निकली पालकी

 मुख्य मार्ग पर कीर्तनी जत्था ने झुमाया

गोविंद सिंह आयो हैं..., तही प्रकाश हमारा भयो पटना शहर बिखे भव लयो..., वाहो-वाहो गोविंद सिंह, आपे गुरु चेला..., तुम हो सब राजन के राजा..., एक ओंकार सतनाम..., सच्चे लाल गोविंद लाल..., वाहे गुरु, वाहे गुरु..., राज करेगा खालसा, आकी रहे ना कोय..., सतनाम श्री वाहे गुरु..., जो बोले सो निहाल, सत श्री अकाल..., पंथ की जीत हो..., वाहे गुरु का खालसा, वाहे गुरु की फतह... जैसे नारों व भजनों से अशोक राजपथ गूंजायमान रहा। वहीं नगर कीर्तन में शामिल बैडबाजों पर देह शिवावर मोहे इहे, शुभ करमन ते कभु न टरूं... के धुन बज रहे थे।

 पूरे मार्ग के दोनों ओर नगर कीर्तन देखने को उमड़ी भीड़

गायघाट से निकले नगर कीर्तन के आगे जीप पर उद‌्घोषक प्रो. लालमोहर उपाध्याय दशमेश गुरु की जीवनी से अवगत करा रहे थे। उसके पीछे आधा दर्जन बैंड पर धार्मिक धुन बज रहे थे। उसके पीछे फ्रेजर रोड गुरुद्वारा श्री गुरु सिंह सभा कीर्तनी जत्था, गुरुद्वारा श्री गुरु सिंह सभा गोविंद नगर चितकोहरा कीर्तनी जत्था, सचखंड कीर्तनी जत्था हजूर साहिब, गुरुद्वारा साध संगत नया टोला कीर्तनी जत्था, मुंबई की कीर्तनी जत्था, सासाराम व रांची के कीर्तनी जत्था, पटना साहिब कीर्तनी जत्था दशमेश गुरु के जीवनी पर आधारित कीर्तन प्रस्तुत कर रहे थे।

 स्कूली बच्चों ने किया मार्च पास्ट

नगर कीर्तन में श्री गुरु गोविंद सिंह बालक-बालिका उच्च व मध्य विद्यालय के छात्र- छात्राओं ने मार्च पास्ट किया। मार्च पास्ट के आगे पंज-प्यारे चल रहे थे। वहीं आरकेस्ट्रा पर झारखंड के बिक्की छाबड़ा ने चढ़दी कला च रहे खालसा..., सारे देवों को बधाईयां..., मां गुजरी के घर चलिए..., देहि शिवावर...भजनों से नगर कीर्तन में संगतों को झूमने पर मजबूर किया। नगर कीर्तन के दौरान पंजाब से आए गतका पार्टी के सदस्यों ने जौहर दिखा संगतों को अचंभित किया।

नगर कीर्त्‍तन में स्‍कूली छात्रा पंच प्‍यारे ।

मार्ग में हुई फूलों की बारिश

अशोक राजपथ से श्री गुरु ग्रंथ साहिब की पालकी गुजर रही थी। टैंकर से मार्ग में जल का छिड़काव किया जा रहा था। सिख संगतों तथा महिलाओं द्वारा मार्ग पर जल छिड़काव कर झाडू से अशोक राजपथ की सफाई की जा रही थी। नगर कीर्तन में पंज-प्यारों और पालकी के आगे संगत फूलों की वर्षा कर रहे थे। अशोक राजपथ पर स्थित घर की छतों से भी नगर कीर्तन पर फूल बरसाए जा रहे थे। गायघाट से निकले नगर कीर्तन देखने के लिए अशोक राजपथ के चार किलोमीटर तक मुख्य मार्ग के दोनों ओर स्थानीय लोग पलके बिछाए थे। अनुमंडल कार्यालय के सामान उमा पेट्रोल पंप पर रोटरी क्लब के सदस्यों द्वारा नगर कीर्तन का स्वागत किया गया।

Categories: Bihar News

बिहार में जदयू सांसद के अस्पताल पर चला बुलडोजर, MP बोले- मरीजों के लिए किया गया ऐसा

Dainik Jagran - January 19, 2021 - 6:22pm

जागरण संवाददाता, गोपालगंज : शहर के गोसाई टोला मोहल्ले में मंगलवार को प्रशासन ने सरकारी जमीन पर किए गए अतिक्रमण को हटाने के लिए अभियान चलाया। इस दौरान बुलडोजर से सांसद डॉ. आलोक कुमार सुमन के आलोक अस्पताल सहित दो निजी अस्पतालों की सीढ़ी को तोड़ दिया गया। इसके साथ ही सरकारी जमीन पर बनाए गए 23 लोगों के पक्के निर्माण को भी ध्वस्त कर जमीन को अतिक्रमण से मुक्त करा लिया गया। 

सदर सीओ विजय कुमार सिंह ने बताया कि गोसाई टोला मोहल्ले में 23 लोगों ने सरकारी जमीन पर अतिक्रमण कर पक्का निर्माण कर लिया था। इसको लेकर मोहल्ले को लोगों ने शिकायत दर्ज कराई थी। मामले की जांच करने पर सरकारी जमीन पर अतिक्रमण कर पक्का निर्माण करने की शिकायत सही पाई गई। मंगलवार को सरकारी जमीन पर किए गए अतिक्रमण को हटाने के लिए अतिक्रमण हटाओ अभियान चलाया गया। इस अभियान के दौरान बुलडोजर की मदद से डॉ. राजीव रंजन के क्लीनिक का पिछला हिस्सा, सांसद डॉ. आलोक कुमार सुमन के अस्पताल आलोक अस्पताल की सीढ़ी, एक वार्ड पार्षद के आवास की सीढ़ी सहित 23 लोगों के पक्का निर्माण को तोड़कर सरकारी जमीन को अतिक्रमण से मुक्त करा लिया गया। इस अभियान में नगर इंस्पेक्टर प्रशांत कुमार सहित कर्मी शामिल रहे। 

जमीन की मापी कर की गई कार्रवाई  

गोसाई टोला मोहल्ले में जिला प्रशासन के आदेश पर सदर सीओ विजय कुमार सिंह के द्वारा अतिक्रमण हटाओ अभियान चलाया गया। इस दौरान तीन अमीन को सीओ ने अपने साथ रखा था। जिन लोगों ने निर्माण अपनी जमीन में कराने की बात कही, उस जमीन की तत्काल अमीन से मापी कराई गई। मापी में जमीन सरकारी मिलने पर उस पर किए गए पक्का निर्माण को तोड़ दिया गया। जमीन की मापी तथा अतिक्रमण हटाने का काम साथ-साथ चलता रहा। 

अतिक्रमण हटाने के दौरान हुई नोकझोंक 

शहर के गोसाई टोला मोहल्ले में चलाए गए अतिक्रमण हटाओ अभियान के दौरान कुछ लोगों ने पुलिस के साथ नोकझोंक भी किया। लोगों का कहना था कि वर्षों से वे लोग मकान बनाकर रह रहे हैं। लेकिन, सीओ विजय कुमार ङ्क्षसह ने उनकी एक नहीं सुनी। जो लोग विरोध कर रहे थे, उनकी जमीन की तत्काल अमीन से नापी कराकर अतिक्रमण हटाने का काम जारी रखा गया। इस दौरान विरोध करने वालों को नगर इंस्पेक्टर प्रशांत कुमार ने समझा कर शांत करा दिया। 

कहते हैं सांसद

सांसद डॉ. आलोक कुमार सुमन ने कहा कि जो निर्माण सरकारी जमीन पर किए गए हैं, वे तोड़े ही जाएंगे। आलोक अस्पताल के पास सड़क काफी नीचे है। मरीजों को अस्पताल आने के लिए सड़क से चढ़ने में परेशानी होने को देखते हुए स्लोप बनाया था। इस स्लोप को तोड़ा गया है।

Categories: Bihar News

बिहार में दहेज की मांग नहीं हुई पूरी तो महिला के शरीर को सिगरेट से दागा, फिर जलाकर ली जान

Dainik Jagran - January 19, 2021 - 5:16pm

संवाद सूत्र, कटेया (गोपालगंज): बिहार में दहेज के लिए फिर एकबार जान ली गई है। लड़की पक्ष से मांगे गए तीन लाख रुपये नहीं मिलने पर सोमवार की देर शाम कटेया थाना क्षेत्र के छितौना गांव में ससुराल वालों ने महिला को जलाकर मार डाला। इस वारदात को अंजाम देने के बाद ससुराल वाले महिला के शव को घर पर छोड़कर फरार हो गए। ग्रामीणों से इस वारदात की जानकारी मिलने पर मंगलवार की सुबह कटेया थाना पहुंचे महिला के भाई ने अपनी बहन के पति सहित सात लोगों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज कराई। पुलिस मामले की जांच कर रही है।

प्रताड़ित किए जाने की दी थी जानकारी

बताया जाता है कि नगर थाना क्षेत्र के फतहां गांव निवासी शंभू चौहान की पुत्री निशा की शादी 30 जून 2020 को कटेया थाना क्षेत्र के छितौना गांव निवासी दीनानाथ चौहान के पुत्र राजकुमार चौहान के साथ हुई थी। शादी के बाद ससुराल जाने पर निशा देवी से दहेज में तीन लाख रुपये की मांग ससुराल वाले करने लगे। इसके लिए उनके साथ मारपीट की जाने लगी। कुछ दिन पहले दहेज की मांग को लेकर ससुराल वालों ने निशा देवी को सिगरेट से दाग दिया था। इसके बाद उन्होंने दहेज के लिए प्रताड़ित किए जाने की जानकारी अपने मायके के लोगों को दी।

मिट्टी का तेल छिड़ककर लगाई आग

दहेज के लिए प्रताड़ित किए जाने की जानकारी मिलने पर मायके के लोग निशा देवी के ससुराल जाकर ससुराल वालों को काफी समझाया लेकिन, निशा को परेशान करने का सिलसिला जारी रहा। इसके बाद भी दहेज की मांग पूरी नहीं होने पर सोमवार की देर शाम शरीर पर मिट्टी का तेल छिड़ककर जलाकर उन्हें मार डाला गया। इसके बाद ससुराल वाले महिला के शव को ठिकाने लगाकर घर छोड़कर फरार हो गए। ग्रामीणों से वारदात की सूचना मिलने पर मायके के लोग छितौना पहुंच कर देखे कि घर के सारे लोग फरार हैं और घर में ताला बंद है। इस वारदात को लेकर निशा के भाई मुकेश कुमार ने बहनोई राजकुमार चौहान, ससुर दीनानाथ चौहान सहित सात लोगों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज कराई है। पुलिस आरोपितों को गिरफ्तार करने के लिए छापेमारी अभियान चला रही है। 

Categories: Bihar News

Pages

Subscribe to Bihar Chamber of Commerce & Industries aggregator - Bihar News

  Udhyog Mitra, Bihar   Trade Mark Registration   Bihar : Facts & Views   Trade Fair  


  Invest Bihar