Bihar News

मसौढ़ी में युवक को मारी गोली, पीएमसीएच रेफर

Dainik Jagran - 5 hours 44 min ago

संवाद सहयोगी, मसौढ़ी :

पटना - गया रेलखंड के तारेगना जीआरपी अंतर्गत तारेगना स्टेशन से करीब पांच सौ मीटर उतर तारेगना चकिया गांव के सामने रेल पुलिया के पास शनिवार की शाम तीन-चार बदमाशों ने एक युवक को गोली मार दी। घायल युवक का अनुमंडलीय अस्पताल में उपचार कराने के बाद उसे बेहतर इलाज के लिए पीएमसीएच भेज दिया गया। इधर मौके पर पहुंची जीआरपी ने एक खोखा बरामद किया है। फिलहाल रेल पुलिस मामले की जांच में जुटी हुई थी। फिलवक्त घटना का कारण स्पष्ट नहीं हो सका था।

जानकारी के मुताबिक, थाना के चकिया पर निवासी रामाशीष प्रसाद का पुत्र संजीव कुमार तमिलनाडु में एक निजी कंपनी में काम करता है। वह बीते 8-10 दिनों से अपना घर आया हुआ था। शनिवार की शाम करीब साढे छह बजे वह अपने गांव के सामने रेल पुलिया पर खड़ा था। इसी दौरान तीन-चार युवक वहां पहुंचे और उसे दो गोली मार पैदल ही निकल भागे। एक गोली उसकी बांह में व एक गोली उसकी पीठ में लगी। मौके पर पहुंचे जीआरपी थानाध्यक्ष सुरेश राम ने उसे अनुमंडलीय अस्पताल पहुंचाया। इसबीच मसौढ़ी थाना पुलिस भी अस्पताल पहुंच गई। प्राथमिक उपचार के बाद गंभीर स्थिति में उसे बेहतर इलाज के लिए पीएमसीएच भेज दिया गया। जीआरपी ने मौके से एक खोखा बरामद किया है।

इस बाबत जीआरपी थानाध्यक्ष सुरेश राम ने बताया कि फिलवक्त घायल को उपचार के लिए पीएमसीएच भेज दिया गया है। उन्होंने बताया कि घटना के कारण को लेकर फिलहाल दो तरह की बातें सामने आई है। कुछ लोगों का कहना था कि घायल युवक को पीने खाने की आदत थी और 3-4 दिन पूर्व ताड़ी पीने के दौरान उसका कुछ युवकों के साथ झगड़ा हुआ था। जबकि कुछ लोगों का कहना था कि कुछ युवक पुलिया के पास गांजा पी रहे थे और संजीव ने इसका विरोध किया था। जीआरपी थानाध्यक्ष ने बताया कि सभी बिदुओं पर जांच की जा रही है और आरोपितों की पहचान कर उनकी गिरफ्तारी के लिए छापेमारी की जा रही है।

Categories: Bihar News

रानीतालाब में गृहस्वामी को बंधक बनाकर डकैती

Dainik Jagran - 5 hours 45 min ago

बिक्रम : रानीतालाब थाना क्षेत्र के बरदा गांव में शुक्रवार की देर रात घर में घुसकर बदमाशों ने डकैती की घटना को अंजाम दिया। पांच की संख्या में रहे बदमाशों ने गृहस्वामी को हथियार का भय दिखाकर बंधक बना लिया और घर से नकदी और सामान लूटकर फरार हो गए। गृहस्वामी ने इसकी लिखित शिकायत थाने में की है।

जानकारी के अनुसार, ओम प्रकाश शर्मा की पत्नी किरण देवी ने बताया कि शुक्रवार की देर रात खाना खाने के बाद परिवार वालों के साथ सो गए थे। देर रात छत के रास्ते पांच की संख्या में बदमाश घर में घुस आए और हथियार का भय दिखाकर बंधक बना लिया। डकैतों ने घर से 50 हजार नकदी, सोने के जेवर, कपड़े आदि लूट ली। पीड़िता ने गोना गांव के विकास कुमार सहित पांच लोगों के विरुद्ध प्राथमिकी दर्ज कराई। महिला ने आरोप लगाया कि आरोपित पुत्र प्रिस को मारने की धमकी दी है। महिला ने डकैत जब घर में घुसे तो वह अकेली थी। पति और पुत्र घर के बाहर सो रहे थे।

इस संबंध में रानीतालाब थानाध्यक्ष सतीश कुमार ने बताया कि मामले की जांच की जा रही है। जानकारी के बाद पुलिस घटनास्थल पर गई थी। गांव के बाहर एक बक्सा बरामद किया गया है। पुलिस का मानना है कि आरोपित के साथ पूर्व से विवाद भी चल रहा है। जांच के बाद मामला स्पष्ट होगा।

संसू, फतुहा : गोबिदपुर बाजार में शुक्रवार की देर रात बजरंगबली के समीप एक मोबाइल रिपेयरिग दुकान का ताला तोड़ कर चोरों दुकान में रखी नकदी समेत साढ़े पांच लाख के सामान चोरी कर ली। दुकानदार थाना क्षेत्र के रानीपुर गांव निवासी राहुल कुमार ने शनिवार को इसकी शिकायत थाने में की है। राहुल ने बताया कि शुक्रवार की शाम चार बजे दुकान बंद कर रानीपुर चला गया था। शनिवार की सुबह आसपास के लोगों ने घटना की जानकारी दी। दुकान के अंदर गल्ला में रखा बीस हजार रुपये, ग्राहकों का 25 मोबाइल, दो लैपटाप, कंप्यूटर, प्रिटर समेत कई सामान गायब थे।

Categories: Bihar News

पटना साहिब स्थित तख्त श्रीहरिमंदिर जी प्रबंधक समिति के अध्यक्ष समेत पांच पर प्राथमिकी

Dainik Jagran - June 12, 2021 - 10:52pm

पटना सिटी, जागरण संवाददाता। Bihar Crime: दुनियाभर के सिखों की श्रद्धा के बड़े केंद्र और दसवें गुरु गोविंद सिंह की जन्‍मस्‍थली के तौर पर ख्‍यात तख्त श्रीहरिमंदिर जी पटना साहिब (Takht Shree Harimandirji Patna Sahib) प्रबंधक समिति के अध्यक्ष, महासचिव, सचिव, अधीक्षक और प्रबंधक के खिलाफ लंगर की सामग्री को अनधिकृत रूप से बेचने का मामला पटना सिटी चौक थाने में दर्ज किया गया है। थानाध्यक्ष गौरीशंकर गुप्ता ने बताया कि मामले की पड़ताल की जा रही है। इधर, प्रबंधक समिति के महासचिव व सचिव ने बताया कि साजिश के तहत बेबुनियाद आरोप लगाए गए हैं। जांच समिति गठित कर दी गई है। रविवार को रिपोर्ट आने के बाद मामला स्पष्ट हो जाएगा।

सुप्रीम कोर्ट के अधिवक्‍ता ने दर्ज कराई प्राथमिकी

सर्वोच्च न्यायालय के अधिवक्ता डॉ. बलराम सिंह द्वारा एक दैनिक समाचार पत्र (दैनिक जागरण नहीं) में प्रकाशित खबर का हवाला देते हुए प्रबंधक समिति के अध्यक्ष सरदार अवतार सिंह हित, महासचिव सरदार महेंद्र पाल सिंह ढिल्लन, सचिव सरदार महेंद्र सिंह छाबड़ा, अधीक्षक सरदार दलजीत सिंह, प्रबंधक दिलीप सिंह पटेल के खिलाफ आवेदन देकर प्राथमिकी दर्ज कराई गई है।

गुरु्द्वारे का गेहूं आटा मिल में बेचने का आरोप

दिए गए आवेदन में आरोप है कि जत्थेदार द्वारा संग्रहित किए गए 718 क्विंटल 30 किलोग्राम गेहूं को अनधिकृत रूप से गुरु का बाग स्थित एक फ्लावर मिल को बेचा गया। साथ ही विक्रय के बाद प्राप्त नौ लाख रुपये को गुरुद्वारा के खाते में जमा कराया गया। बाकी रकम का कोई हिसाब नहीं दिया गया। गेहूं को बेचने की दर का भी उल्लेख नहीं किया गया। समिति के पदाधिकारी द्वारा एक प्रेस रिलीज में बताया गया है कि कोविड 19 के सहायतार्थ जरुरतमंदों के बीच अनाज वितरण किया गया। आरोप है कि किसी प्रकार का कोई अनाज वितरण नहीं हुआ है। 

सिखों की आस्‍था का बड़ा केंद्र है गुरुद्वारा

यह गुरुद्वारा सिखों की आस्‍था का बड़ा केंद्र है। गुरु गोविंद सिंह के 350वें प्रकाश उत्‍सव पर यहां बहुत बड़ा समारोह आयोजित किया गया था, जिसमें देश के कोने-कोने से श्रद्धालु यहां आए थे। दसवें गुरु के बचपन का लंबा हिस्‍सा यहीं गुजरा था। तख्‍त श्री हरिमंदिर ठीक उसी जगह है, जहां दसवें गुरु का अवतरण हुआ था।

Categories: Bihar News

सारण के 1677 शिक्षकों को खुद से पोर्टल पर अपलोड करना होगा प्रमाणपत्र, नहीं तो जाएगी नौकरी

Dainik Jagran - June 12, 2021 - 10:30pm

छपरा, जागरण संवाददाता। शिक्षक नियोजन में फर्जीवाड़े की जांच अब अंजाम तक पहुंचने वाली है। शिक्षा विभाग ने सभी शिक्षकों के शैक्षणिक कागजातों के फोल्‍डर को आधिकारिक पोर्टल पर अपलोड करने का जो वक्‍त दिया था, वह अब खत्‍म हो गया है। अब वैसे शिक्षकों की सूची बनाई जा रही है, जिनके दस्‍तावेज विभाग को अब तक नहीं मिले हैं। ऐसे शिक्षकों को अब अपना प्रमाणपत्र खुद ही विभाग के पोर्टल पर अपलोड करना होगा। अगरर वे ऐसा नहीं कर पाए तो उनकी नौकरी जा सकती है।

सारण जिले में वर्ष 2006 से 2015 तक नियोजित हुए करीब 1677 शिक्षकों को खुद से शिक्षा विभाग के पोर्टल पर  अपना प्रमाणपत्र अपलोड करना होगा। ऐसा नहीं करने वाले शिक्षकों की सेवा समाप्त कर दी जाएगी। साथ ही इस दौरान लिया गया वेतन भी वसूला जाएगा।  इस संबंध में जिला शिक्षा पदाधिकारी अजय कुमार ङ्क्षसह ने बताया कि  वर्ष 2006  - 2015 में करीब 12 हजार नौ शिक्षकों का नियोजन किया गया था। जिसमें  से 1844 का फोल्डर  किसी भी कारण से निगरानी अन्वेषण ब्यूरो के पास जांच के लिए नहीं गया है। वैसे शिक्षकों को उनकी जांच के लिए शिक्षा विभाग ने एक मौका दिया है।

1844 में से सारण जिले में 214 ऐसे शिक्षक हैं जिनकी मृत्यु हो गई, सेवानिवृत्त हो गया या नौकरी छोड़ दिये है। उसके बाद बचे  1677 शिक्षकों का  नाम पोर्टल में अपलोड कर दिया गया है। इन शिक्षकों को खुद से शिक्षा विभाग के पोर्टल पर शिक्षक का नाम, संबंधित प्रखंड का नाम, नियोजन इकाई का नाम, शिक्षक/ शिक्षिका के पिता या पति का नाम, पदस्थापित विद्यालय का नाम, नियुक्ति की तिथि, ईपीएफ खाता संख्या अपलोड करना होगा।

इस संबंध में परिवर्तनकारी प्रारंभिक शिक्षक संघ के जिलाध्यक्ष समरेंद्र बहादुर सिंह ने कहा जिन शिक्षकों का नाम पोर्टल पर दिख रहा है वे परेशान न हों। उन्हें अपना पूरा प्रमाण पत्र पोर्टल खुलने के बाद अपलोड करना होगा। शिक्षकों की समस्या के समाधान के लिए के वह हर स्तर पर कार्य करेंगे, ताकि नियोजित शिक्षकों को कोई दिक्कत न हो।

Categories: Bihar News

बिहार से महाराष्‍ट्र व गुजरात जाने वाली 10 ट्रेनों को विस्‍तार, भागलपुर, समस्‍तीपुर व दानापुर से करें सफर

Dainik Jagran - June 12, 2021 - 9:07pm

पटना, जागरण संवाददाता। IRCTC, Indian Railway News: कोरोना संक्रमण के कम होते ही रेलवे ने ट्रेनों की संख्‍या बढ़ानी शुरू कर दी है। आजकल बिहार से महाराष्ट्र व गुजरात जाने वाली ट्रेनों में भारी भीड़ उमडऩे लगी है। अतिरिक्त भीड़ को देखते हुए रेलवे ने बांद्रा टर्मिनल, मुंबई सेंट्रल, अहमदाबाद आदि स्टेशनों से पूर्व मध्य रेल के बरौनी, समस्तीपुर, दानापुर  सहित अन्य स्टेशनों के लिए वर्तमान में चलाई जा रही 10 जोड़ी स्पेशल ट्रेनों के फेरे बढ़ा दिए हैं। ये सभी स्पेशल ट्रेनें पूर्णतया आरक्षित हैं एवं यात्रा के दौरान यात्रियों को कोविड-19 पोटोकॉल का पालन अनिवार्य होगा। इसके अलावा चार अन्‍य ट्रेनों का परिचालन शुरू करने की घोषणा भी रेलवे ने की है।

  • 09011 उधना-दानापुर स्पेशल ट्रेन का परिचालन 14 जून को एवं 09012 दानापुर-उधना स्पेशल ट्रेन का परिचालन 16 जून को किया जाएगा।
  • 09049 मुंबई सेंट्रल- समस्तीपुर स्पेशल ट्रेन का परिचालन 14, 15, 17 एवं 19 जून एवं 09050 समस्तीपुर-मुंबई सेंट्रल स्पेशल का परिचालन 16, 17, 19 एवं 21 जून को किया जाएगा।
  • 09117 मुंबई सेंट्रल- भागलपुर स्पेशल ट्रेन (वाया मुजफ्फरपुर, बेतिया) का परिचालन 18 जून एवं 09118 भागलपुर-मुंबई सेंट्रल स्पेशल ट्रेन (वाया मुजफ्फरपुर, बेतिया) का परिचालन 21 जून को किया जाएगा।
  • 09175 मुंबई सेंट्रल- भागलपुर स्पेशल ट्रेन (वाया मुजफ्फरपुर, बेतिया) का परिचालन 13 जून एवं 09176 भागलपुर-मुंबई सेंट्रल स्पेशल ट्रेन (वाया मुजफ्फरपुर, बेतिया) का परिचालन 15 जून को किया जाएगा।
  • 09177 मुंबई सेंट्रल-भागलपुर स्पेशल ट्रेन (वाया मुजफ्फरपुर, बेतिया) का परिचालन 16 जून एवं 09178 भागलपुर-मुंबई सेंट्रल स्पेशल ट्रेन (वाया मुजफ्फरपुर, बेतिया) का परिचालन 19 जून को किया जाएगा।
  • 09181 बांद्रा टर्मिनल-दानापुर स्पेशल ट्रेन का परिचालन 15 जून को तथा 09182 दानापुर-बड़ोदरा स्पेशल ट्रेन का परिचालन 17 जून को किया  जाएगा ।
  • 09453 अहमदाबाद- समस्तीपुर स्पेशल ट्रेन का परिचालन 13 जून को एवं 09454 समस्तीपुर- अहमदाबाद स्पेशल ट्रेन का परिचालन 16 जून को किया जाएगा।
  • 09501 ओखा-गुवाहाटी स्पेशल ट्रेन (वाया डीडीयू जं.-पटना) का परिचालन 18 जून को एवं 09502 गुवाहाटी-ओखा स्पेशल ट्रेन (वाया डीडीयू जं.-पटना) का परिचालन 21 जून को किया जाएगा।
  • 09521 राजकोट- समस्तीपुर स्पेशल का परिचालन 16 जून को एवं 09522 समस्तीपुर- राजकोट स्पेशल का परिचालन 19 जून को किया जाएगा।
  • 09005 बांद्रा टर्मिनल- बरौनी (वाया पटना, बक्सर, डीडीयू जं.) स्पेशल का परिचालन 18 जून को एवं 09006 बरौनी-बांद्रा टर्मिनल स्पेशल (वाया पटना, बक्सर, डीडीयू जं.) 09006 बरौनी-बांद्रा टर्मिनल स्पेशल का परिचालन 21 जून को होगा। 

फिर शुरू हुआ भागलपुर इंटरसिटी समेत चार जोड़ी ट्रेनों का परिचालन

यात्रियों की सुविधा के लिए भागलपुर एवं सियालदह से दानापुर, मुजफ्फरपुर तथा सहरसा के बीच चलने वाली चार जोड़ी ट्रेनों का परिचालन फिर से बहाल करने का निर्णय लिया गया है। इन ट्रेनों को कोरोना संक्रमण के बढऩे के कारण रद कर दिया गया था। इन चारों स्पेशल ट्रेनों का परिचालन 14 जून से शुरू कर दिया जाएगा।

14 जून से चलने वाली ट्रेनें

  • 03401 भागलपुर-दानापुर स्पेशल 
  • 03402 दानापुर-भागलपुर स्पेशल
  • 03419 भागलपुर- मुजफ्फरपुर स्पेशल
  • 03420 मुजफ्फरपुर- भागलपुर स्पेशल

17 जून से चलने वाली ट्रेनें

  • 03163 सियालदह-सहरसा स्पेशल
  • 03164 सहरसा-सियालदह स्पेशल
  • 03169 सियालदह-सहरसा स्पेशल
  • 03170 सहरसा-सियालदह स्पेशल

Categories: Bihar News

Government Job: बिहार के नगर विकास विभाग में बंपर बहाली, यहां जान लें हर जरूरी बात

Dainik Jagran - June 12, 2021 - 8:45pm

पटना, कुमार रजत। Government Job in Bihar: बिहार के 117 नए शहरी निकायों में आउटसोर्सिंग पर बंपर बहाली होगी। शहरी निकायों के नए कार्यालयों के लिए भी करीब एक हजार कर्मचारी आउटसोर्सिंग पर रखे जाएंगे। इसके अलावा नई नियुक्तियों में हजारों की संख्या सफाई कर्मचारियों की होगी। इसके अलावा नगर विकास एवं आवास विभाग ने सभी जिला पदाधिकारी, नगर आयुक्त व कार्यपालक पदाधिकारी को पत्र लिखकर इस बाबत आदेश जारी किया है। हर हाल में 31 मार्च, 2022 तक बहाली की प्रक्रिया पूरी कर लेने को कहा गया है।

हर कार्यालय के लिए आठ-दस कर्मचारी

 नए 117 नगर निकायों में खुलने वाले नए कार्यालयों में आइटी ब्वाय, कंप्यूटर आपरेटर, टैक्स कलेक्टर, अकाउंटेंट और सफाई निरीक्षण के पद के लिए आउटसोर्सिंग पर बहाली होगी। नगर पंचायतों में आठ जबकि नगर परिषद में अधिकतम 10 कर्मचारी रखे जाने हैं। इसके अलावा सभी निकायों में साफ-सफाई के लिए करीब तीन-चार हजार सफाईकर्मी एजेंसी के माध्यम से आउटसोर्सिंग पर रखे जा सकते हैं।

20-25 हजार के किराये पर कार्यालय

नए कार्यालय के लिए डीएम को नगर परिषद को न्यूनतम तीन और नगर परिषद को न्यूनतम दो कमरे वाला कार्यालय उपलब्ध कराना है। सरकारी भवन उपलब्ध नहीं होने पर नगर निकायों को किराये पर कम से कम पांच से छह कमरे वाला भवन लेना होगा। नगर परिषद के लिए निजी भवन का मासिक किराया अधिकतम 25 हजार जबकि नगर पंचायतों के लिए अधिकतम 20 हजार होगा। इसकी जवाबदेही अनुमंडल पदाधिकारी की होगी।

48 घंटे में नए निकायों में शुरू हो नाला उड़ाही

मानसून को देखते हुए सभी नए शहरी निकायों में अगले दो दिनों में नाला उड़ाही का काम शुरू करने को कहा गया है। आदेश में कहा गया है कि चूंकि आउटसोर्सिंग के माध्यम से सफाई कर्मचारी रखने में समय लग सकता है, इसलिए फिलहाल मूल प्रभार के नगर निकायों में सेवा देने वाली एजेंसी के माध्यम से साफ-सफाई और कूड़ा प्रबंधन के लिए मानव बल की व्यवस्था कर ली जाए। अगर इसकी सुविधा नहीं है, तो दैनिक पारिश्रमिक (दैनिक भत्ते) पर सफाई कर्मियों को रखा जाए।

पांच लाख रुपये तक कर सकेंगे खर्च

मानसून में जलजमाव से बचाव के लिए नए नगर निकाय अति आवश्यक सिविल कार्यों पर अधिकतम पांच लाख रुपये तक खर्च कर सकेंगे। इसके अलावा साफ-सफाई के जरूरी उपकरणों की खरीद के लिए नगर परिषद अधिकतम डेढ़ लाख जबकि नगर पंचायत अधिकतम एक लाख रुपये खर्च कर सकेंगे। नए निकायों में फर्नीचर व अन्य उपस्करों के लिए नगर पंचायतों को अधिकतम दो लाख जबकि नगर परिषदों को अधिकतम तीन लाख रुपये खर्च करने की छूट दी गई है।

Categories: Bihar News

बिहार में चार करोड़ किसानों ने यूट्यूब से सीखा पैसा कमाने का तरीका, आप भी अपना सकते हैं ये तरीका

Dainik Jagran - June 12, 2021 - 8:19pm

पटना, रमण शुक्ला। कोरोना काल में चार करोड़ से ज्यादा किसानों ने यू-ट्यूब पर कृषि विभाग व बिहार कृषि विश्वविद्यालय द्वारा तैयार खेती-बारी से संबंधित 360 वीडियो कंटेंट देखा। वहीं, साढ़े तीन लाख से ज्यादा ने वीडियो को सब्सक्राइब भी किया है। किसानों की सर्वाधिक दिलचस्पी खरीफ की खेती में धान की बुआई से संबंधित वीडियो को देखने में रही। आम-अमरूद के बाग लगाने और हिफाजत से संबंधित वीडियो भी खूब देखे गए। सबौर स्थित बिहार कृषि विवि के कुलपति डा. आरके सोहाने के अनुसार, वीडियो देखने वालों में बिहार के साथ देश-विदेश के किसान भी शामिल रहे।

अहम यह है कि साप्ताहिक लाइव ई-किसान चौपाल में यू-ट्यूब के माध्यम से जहां डेढ़ से दो हजार किसान प्रशिक्षण लेते हैं, वहीं चैनल पर पहले से अपलोड किए गए वीडियो को देखकर नवाचार के प्रति प्रेरित हो रहे हैं। दिलचस्पी का अंदाजा इस बात से भी मिल रहा है कि 350 वीडियो को खूब पसंद करते हुए बड़ी संख्या में किसानों ने तमाम सवाल भी किए हैं।

तीन तरह के कंटेंट हैं उपलब्ध

  • 1. तकनीकी वीडियो, जो कि कृषि और पशुपालन विषय के संपूर्ण पहलू पर बनाया गया है।
  • 2. सौ किसानों की सफलता की कहानियों पर प्रेरक फिल्में बनाई गई हैं।
  • 3. कोरोना काल में प्रयोग पर आधारित प्रशिक्षण फिल्मों को काफी रुचि से देखी गई है।

धान की सीधी बुआई पर भी है जानकारी

कृषि विश्वविद्यालय के यू-ट्यूब चैनल पर प्रतिदिन 35 से 40 हजार लोग विजिट कर रहे हैं। समसामयिक फिल्में देखी जा रहीं। सर्वाधिक रुचि धान की उच्च कोटि के किस्मों के बारे में बनी फिल्में, सीधी बुआई, आम और अमरूद की बागवानी और परवल की खेती से संबंधित वीडियो में ली जा रही। विश्वविद्यालय मीडिया सेंटर के प्रभारी ईश्वर चंद्र के अनुसार, वेबसाइट पर फिल्मों की अपलोडिंग में किसानों के हित का दृष्टिकोण अहम होता है। 

युवाओं में दिख रहा क्रेज

वीडियो देखने वालों में 25 से 34 वर्ष के किसानों की संख्या सर्वाधिक 36 फीसद है। 18 से 24 वर्ष वाले कृषि विद्यार्थियों की संख्या 24 फीसद है। बिहार में स्ट्राबेरी की खेती पर बने वीडियो सबसे अधिक देखे गए। इसके अलाव बकरी पालन और मशरूम की खेती पर बने वीडियो के प्रति भी लोगों की रुझान काफी है। दर्शकों में 90 फीसद भारत के हैं, जबकि 10 फीसद विदेश के।

कुलपति ने ये कहा

धान के बिचड़ों का चयन, धान की सीधी बुआई, बरसात में हरा चारा प्रबंधन, तिल की खेती, आम और अमरूद के बागान के प्रबंधन पर आधारित फिल्में अपलोड की गई हैं। सिर्फ 20 दिनों में 10 लाख लोगों ने इन्हें देखा है। सबसे अधिक 1.40 लाख बार आम के बाग की कटाई-छंटाई पर बनी फिल्म देखी गई। इस वीडियों दो जून को अपलोड किया गया था।

- डा. आरके सोहाने, कुलपति, कृषि विश्वविद्यालय, सबौर

Categories: Bihar News

बिहार में जदयू ने नए नेताओं को सौंपी जिम्‍मेदारी, एक प्रकोष्‍ठ के जिला अध्‍यक्ष व लोकसभा प्रभारी बदले गए

Dainik Jagran - June 12, 2021 - 8:00pm

पटना, राज्य ब्यूरो। Bihar Politics: बिहार में लॉकडाउन खत्‍म होते ही मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार की पार्टी जदयू ने अपने संगठन को धार देना शुरू कर दिया है। पार्टी के राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष आरसीपी सिंह की सक्रियता भी बढ़ गई है। उन्‍होंने शनिवार को पार्टी के प्रदेश कार्यालय में बैठकें कीं। उन्‍होंने महादलित, दलित, अति पिछड़ा, युवा, छात्र और महिला प्रकोष्‍ठ के साथ ही समाज सुधार वाहिनी प्रकोष्‍ठ के अधिकारियों के साथ भी बैठक की। इस बीच जदयू दलित प्रकोष्ठ की दक्षिण बिहार इकाई ने शनिवार को अपने जिला अध्यक्षों व लोकसभा प्रभारियों की सूची जारी की है। प्रकोष्ठ के प्रदेश अध्यक्ष शत्रुघ्न पासवान ने बताया कि पटना में अमित कुमार पासवान को दलित प्रकोष्ठ का अध्यक्ष बनाया गया है।

इन्हें जिलों की जिम्मेदारी

बांका- जितेंद्र पासवान, मुंगेर- राजदेव प्रसाद, लखीसराय- सुनील कुमार पासवान, शेखपुरा- बलराम पासवान, नालंदा- कामता कुमार, बाढ़- प्रदीप पासवान, भोजपुर- राम पुलिस पासवान, बक्सर- उमाशंकर पासवान, कैमूर- कामता पासवान, रोहतास चंद्रभान प्रताप पासवान, अरवल- अजय पासवान, जहानाबाद- अमरेश पासवान, औरंगाबाद- विजय कुमार पासवान, गया- कैलाश पासवान, नवादा- अशोक पासवान, जमुई- कार्तिक पासवान, भागलपुर- विशुनदेव पासवान।

इन्हें लोकसभा प्रभारी बनाया गया

पटना साहिब- मुकेश कुमार, पाटलिपुत्र- रणविजय पासवान, आरा- मणि पासवान, बक्सर- बिहारी पासवान, काराकाट- शशि कुमार, सासाराम- मनोज पासवान, औरंगाबाद- ओम प्रकाश कुमार, गया- अशोक पासवान, नवादा- राजेंद्र प्रसाद ज्‍योति, जहानाबाद- आजाद पासवान, नालंदा- पप्पू कुमार पासवान, जमुई- विनोद पासवान, बांका- वाल्मीकि तांती, भागलपुर- विनय पासवान, मुंगेर- राजेश रंजन प्रसाद।

Categories: Bihar News

दो चाचा सहित पांच लोगों ने किया मुंह काला, रात को चाची बुलाकर ले गई; बक्‍सर में मुखिया पुत्र गिरफ्तार

Dainik Jagran - June 12, 2021 - 7:40pm

बक्सर, जागरण संवाददाता। बक्‍सर जिले के राजपुर थाना के एक गांव किशोरी से सामूहिक दुष्‍कर्म के मामले में उसके दा चाचा और चाची सहित कई लोगों पर प्राथमिकी दर्ज कराई गई है। पुलिस ने गुरुवार की देर रात की इस घटना में सखुआना पंचायत के मुखिया राधेश्याम के पुत्र अरविंद को गिरफ्तार कर लिया है। इस मामले में महिला थाना में पीडि़ता के बयान पर केस दर्ज करने के साथ ही घटना में संलिप्त महिला जो पीडि़ता की चाची है, को गिरफ्तार कर लिया गया था। इस प्रकार दुष्कर्म के इस मामले में पुलिस ने छह आरोपितों में से दो को गिरफ्तार कर लिया है, जबकि अन्य चार की गिरफ्तारी के लिए पुलिस की छापेमारी जारी है।

किसी काम के बहाने लेकर गई थी चाची

बताते चलें कि गुरुवार देर रात 11 बजे राजपुर थाना क्षेत्र के एक गांव से रिश्ते की चाची बगल की किशोरी को किसी काम के बहाने अपने घर बुलाकर ले गई थी, जहां पूर्व से ही छिपकर बैठे पांच युवकों ने उसके साथ सामूहिक दुष्कर्म की घटना को अंजाम दिया था। घटना के बाद किसी तरह जब किशोरी अपने घर गई तब घरवालों को इस घटना की जानकारी मिली। सबसे बड़ी बात कि दुष्कर्म के लिए किशोरी को ले जाने वाली रिश्ते में चाची लगती है, जबकि आरोपितों में पीडि़ता के दो चाचा भी शामिल थे।

इन लोगों को बनाया गया है आरोपित

मामले में शुक्रवार की सुबह महिला थाना में प्राथमिकी दर्ज कराई गई थी, जिसमें संगीता देवी पति धनजी राम, लालजी राम, संजय राम, बबलू राम, रामबाबू कुंवर और अरविंद कुमार महिला समेत छह लोगों पर आरोप लगाया गया था। इस बीच पीडि़ता की मेडिकल जांच तथा कोर्ट में बयान दर्ज कराने के बाद पुलिस ने घटना में शामिल संगीता देवी को गिरफ्तार कर लिया था। इस संबंध में महिला थानाध्यक्ष नीतू प्रिया ने बताया कि देर शाम घटना के आरोपित पंचायत के मुखिया राधेश्याम राम के पुत्र अरविंद राम को भी पुलिस ने गिरफ्तार कर पूछताछ के बाद जेल भेज दिया।

Categories: Bihar News

Sushant Singh Rajput Case: सुशांत सिंह राजपूत की मौत का एक साल, क्‍या हुआ रिया का और कहां तक पहुंची जांच?

Dainik Jagran - June 12, 2021 - 7:30pm

पटना, ऑनलाइन डेस्‍क। Sushant Singh Rajput Case बॉलीवुड अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की मौत (Sushant Singh Rajput Death) का एक साल होने जा रहा है। बीते साल 14 जून को वे मुंबई के बांद्रा स्थित अपने फ्लैट में मृत पाए गए थे। मुंबई पुलिस ने इसे सुसाइड (Suicide) माना तो सुशांत के पिता केके सिंह (KK Singh) सहित कइयों ने इसके पीछे साजिश (Conspiracy) के आरोप लगाए। इस मामले में दो राज्‍यों (बिहार व महाराष्‍ट्र) की पुलिस ही नहीं, सरकारें तक आमने-समाने नजर आईं। घटना के पीछे भाई-भतीजावाद (Nepotism) के आरोप में कई बॉलीवुड हस्तियां भी उलझतीं दिखीं। काल-क्रम में सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) ने इसकी जांच सीबीआइ (CBI) के हवाले कर दी। घटना में मनी लॉन्ड्रिंग व ड्रग के एंगल भी निकलकर सामने आए, जिनकी जांच अलग से हो रही है। लेकिन सवाल सह है कि तमाम जांच-पड़ताल का अब तक का हासिल क्‍या है? सवाल यह भी है कि इस मामले में आरोपित सुशांत की गर्लफ्रेंड रहीं रिया चक्रवर्ती (Rhea Chakravorty) कर क्‍या हुआ?

14 जून 2020 को मुंबई में हुई थी सुशांत की मौत

बीते साल 14 जून को सुशांत का शव उनके मुंबई के बांद्रा स्थित फ्लैट में मिला था। यह बड़ी संभावनाओं वाले एक प्रतिभाशाली कलाकार का दुखद अंत था। इस घटना ने पूरे देश का हिला दिया था। अगले दिन 15 जून को मुंबई के पवन हंस श्मशान घाट पर सुशांत का अंतिम संस्कार कर दिया गया। मुंबई पुलिस ने इसे सुसाइड का मामला बताया। लेकिन सवाल हवा में उमड़-घुमड़ रहे कई सवाल अपने जवाब मांग रहे थे।

सुसाइड मानन से इनकार, बताया इसमें छिपा राज

16 जून को भारतीय जनता पार्टी के सांसद निशिकांत दुबे ने सुशांत सिंह राजपूत की मौत के पीछे साजिश की आशंका जताते हुए उच्चस्तरीय जांच की मांग रखी। 25 जून को बीजेपी सांसद रूपा गांगुली ने भी सीबीआइ जांच की मांग रखी। बीजेपी नेता सुब्रमण्यम स्वामी ने इसके साजिशन की गई हत्‍या होने का दावा किया। बॉलीवुड के अंदर से भी सवाल उठने लगे। अभिनेत्री कंगना रनौत ने बॉलीवुड में सुशांत को प्रताडि़त किए जाने का आरोप लगाते हुए कई सवाल उठाए। उन्होंने साफ कहा कि दिमागी तौर पर मजबूत सुशांत सुसाइड नहीं कर सकते थे।

पटना पुलिस के मुंबई में जांच करने से हुआ बवाल

इसी दौरान सुशांत के जीजा व उत्‍तर प्रदेश के वरीय आइपीएस अधिकारी ओपी सिंह ने मामले की गहराई की जांच की मांग की। सुशांत के पिता सहित पूरे परिवार ने घटना के पीछे किसी साजिश की आशंका जताई।

घटनाक्रम ने नया मोड़ तब लिया, जब 29 जुलाई 2020 को सुशांत सिंह राजपूत के पिता केके सिंह ने पटना के राजीव नगर थाने में बेटे की गर्लफ्रेंड रिया चक्रवर्ती सहित छह लोगों के खिलाफ सुसाइड के लिए उकसाने व भयादोहन की एफआइआर दर्ज कराई। इसके बाद 29 जुलाई को पटना पुलिस की टीम जांच के लिए मुंबई गई, जहां उसे महाराष्‍ट्र पुलिस के असहयोग ही नहीं, विरोध का भी समाना करना पड़ा। इस मामले में कानून-व्‍यवस्‍था के राज्‍य का मसला होने की बात उठी। दोनों राज्‍यों की सरकारें भी आमने-समाने दिखीं।

गर्लफ्रेंड रिया हुईं अंडरग्राउंड, डिलीट की पोस्‍ट

इस विवाद के दौरान सुशांत की गर्लफ्रेंड रिया सहित सभी आरोपित भूमिगत हो गए। पटना पुलिस उन्‍हें मुंबई में खोज रही थी। इसके पहले 18 जून को ही रिया चक्रवर्ती ने मुंबई के बांद्रा थाने में अपना बयान दर्ज करा दिया था। रिया ने इसके पहले सुशांत से जुड़ी सभी सोशल मीडिया पोस्ट डिलीट कर दी थी।

सुप्रीम कोर्ट के आदेया पर सीबीआइ जांच आरंभ

सुशांत के पिता की एफआइआर पर दोनों राज्‍यों के बीच उपजे सवैधानिक संकट के बीच राजनीति भी खूब गरमाती दिखी। इस एफआइआर के पहले चार जुलाई 2020 को ही सुशांत के पिता ने मामले की सीबीआइ जांच की मांग की थी, जिसे आधार बनाकर मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार ने केंद्र सरकार से इसकी सिफारिश कर दी। आरोपों के घेरे में आईं रिया चक्रवर्ती ने भी 16 जुलाई 2020 को केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह से मामले की सीबीआइ जांच की मांग की। आगे पांच अगस्त 2020 को केंद्र सरकार ने भी सीबीआइ जांच को स्‍वीकृति दे दी। सुप्रीम कोर्ट ने भी 19 अगस्‍त को इसपर मुहर लगा दी। इसके बाद सीबीआइ ने मामला अपने हाथ में ले लिया।

ईडी व एनसीबी ने भी शुरू की अलग-अलग जांच

इस बीच सवाल उठा कि आखिर सुशांत के करोड़ाें रुपये कहां गए? उनकी गर्लफ्रेंड रहीं रिया चक्रवर्ती व परिवार पर भयादोहन के आरोप लगे। मामला 30 जुलाई को प्रवर्तन निदेशालय तक पहुंचा। सुशांत की हत्‍या की जांच के लिए मुंबई गई बिहार पुलिस की टीम ने इसमें इडी की मदद की। इसी दौरान ईडी को रिया च्रक्रवर्ती सहित कई अन्‍य के ड्रग सिंडिकेट से संबंधों कर पता चला। फिर ईडी के कहने पर इस मामले में एनएसबी ने 26 अगस्‍त को एफआइआर दर्ज कर जांच शुरू की।

जेल गईं रिया, कई बॉलीवुड हस्तियों से पूछताछ

सीबीआइ के अलावा एनएसबी व ईडी ने रिया च्रक्रवर्ती व उनके परिवार तथा अन्‍य कई से कई बार पूछताछ की।

चार सितंबर 2020 को एनसीबी ने रिया व उनके भाई शौविक तथा सुशांत के हाउस मैनेजर सैमुअल मिरांडा को भी गिरफ्तार किया। फिर तो बॉलीवुड में ड्रग के उपयोग की चर्चा सुर्खियों में आ गई। अभिनेत्री कंगना रनौत ने इसपर खूब बयान दिए। इसकी आंच एक्ट्रेस दीपिका पादुकोण, सारा अली खान और श्रद्धा कपूर के साथ रकुलप्रीत सिंह तक पहुंच गई।  उन्‍हें एनएसबी ने 23 सितंबर को पूछताछ के लिए बुलाया। यह जांच अभी चल ही रही है। एनसीबी ने नौ नवंबर को ड्रग मामले में एक्टर अर्जुन रामपाल के बांद्रा स्थित आवास पर छापेमारी की तो कुछ ही दिन पहले 28 मई 2021 को सुशांत के फ्लैटमेट रहे सिद्धार्थ पिठानी को गिरफ्तार किया। इस बीच आठ अक्टूबर 2020 को रिया चक्रवर्ती जमानत पर रिहा होकर बाहर आ गईं हैं।

सलमान-करण पर बिहार सहित देश भर में मुकदमें

सुशांत की मौत को लेकर सोशल मीडिया में लगातार प्रतिक्रियाएं आतीं रहीं। इस दौरान फिल्म इंडस्ट्री में भाई-भतीजेवाद का मुद्दा भी लगातार उछलता रहा। बॉलीवुड के अंदर से कंगना रनौत ने इस मुद्दे को आवाज दी। सुशांत के चाहने वालों ने करण जौहर, सलमान खान, एकता कपूर आदि कई बॉलीवुड हस्तियों को निशाने पर लिया। बिहार सहित पूरे देश में उनके खिलाफ विरोध प्रदर्शन हुए तथा मुकदमें दर्ज किए गए।

एम्‍स के मेडिकल बोर्ड ने की जांच, माना सुसाइड

इस बीच आगे बढ़ती सीबीआइ जांच के दौरान जांच एजेंसी ने घटना-स्‍थल पर मौत कर सीन रिक्रियेट किया। कई संबंधित लोगों से पूछताछ की गई। बीते 28 अगस्त को रिया चक्रवर्ती से भी घंटों पूछताछ की गई।  सीबीआइ ने 24 जून 2020 को सार्वजनिक की गई पोस्टमार्टम रिपोर्ट को भी देखा, जिसमें शव पर किसी तरह के स्ट्रगल मार्क्स या फिर बाहरी चोट के निशान नहीं मिलने की बात दर्ज है। इस रिपोर्ट पर सीबीबाइ ने दिल्‍ली के अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्‍थान के मेडिकल बोर्ड की भी राय ली। बीते पांच अक्टूबर को एम्स दिल्ली के मेडिकल बोर्ड ने सुशांत की मौत के कारणों को लेकर सीबीआइ को अपनी जांच रिपोर्ट सौंप दी। मेडिकल बोर्ड की रिपोर्ट के अनुसार यह सुसाइड का मामला था।

Categories: Bihar News

ओवैसी का संदेश ले शहाबुद्दीन के घर सिवान पहुंचे AIMIM के पांचों विधायक, राजद से नाराजगी भुनाने की कोशिश!

Dainik Jagran - June 12, 2021 - 7:14pm

सिवान, जागरण संवाददाता। Bihar Politics: सिवान के पूर्व सांसद और वरिष्‍ठ राजद नेता शहाबुद्दीन के निधन के बाद उनके घर हर रोज किसी न किसी दल के नेता पहुंच रहे हैं। हालांकि उनकी मौत के बाद राजद का प्रमुख चेहरा बन चुके तेजस्‍वी यादव के नहीं मिलने का मलाल समर्थकों को अब तक है। इस बीच असदुद्दीन ओवैसी की पार्टी एआइएमआइएम के बिहार के पांचों विधायक शनिवार को सिवान पहुंच गए। सलीम परवेज समेत राजद के कई नेता शहाबुद्दीन के परिवार की उपेक्षा का आरोप लगा कर पार्टी छोड़ चुके हैं। ऐसे में इस मुलाकात को लेकर चर्चाएं अधिक हैं। हालांकि शहाबुद्दीन के बेटे ओसामा से जाप के पप्‍पू यादव और जदयू के राधा चरण सेठ के अलावा तेज प्रताप यादव भी मुलाकात कर चुके हैं। ओसामा की मां हिना शहाब किसी नेता से नहीं मिल रही हैं।

सिवान स्थित आवास पर ओसामा से मिले एआइएमआइएम के विधायक

सांसद अससुद्दीन ओवैसी की पार्टी एआइएमआइएम के पांच विधायक शनिवार को दिवंगत पूर्व सांसद मो. शहाबुद्दीन के स्वजनों से मिलने शहर के नया किला स्थित आवास पर पहुंचे। इस दौरान उन्होंने पूर्व सांसद के पुत्र ओसामा शहाब से मिलकर सांत्वना दी। सभी पांचों विधायक तरवारा होते हुए बड़हरिया पहुंचे। जहां समर्थकों द्वारा जोरदार स्वागत किया गया। करीब दो घंटे तक उनलोगों के बीच विभिन्न पहलुओं पर बातचीत हुई।

ओवैसी और शहाबुद्दीन के अच्‍छे संबंधों को किया याद

इस दौरान एआइएमआइएम के प्रदेश अध्यक्ष और अमौर विधायक अख्तरुल इमाम ने कहा कि मो. शहाबुद्दीन के निधन से राजद ही नहीं, बल्कि दलित, मजलूमों को काफी नुकसान हुआ है। कहा कि वे निडर और बेबाक लीडर थे। सामाजिक लड़ाई लडऩे वालों के साथ बिना डर के हक की बात करते थे। कहा कि ओवैसी और मो. शहाबुदीन के बीच अच्छे ताल्लुकात थे। ओवैसी कोरोना के कारण ओसामा से मिलने नहीं पहुंचे हैं। प्रदेश अध्यक्ष के साथ जोकीहाट विधायक शाहनवाज आलम, बायसी विधायक  जनाब सैयद रुकनुद्दीन अहमद, कोचाधामन विधायक इजहार अफसी, बहादुरगंज विधायक अंजार नईमी व युवा प्रदेश अध्यक्ष आदिल हसन मौजूद थे।

Categories: Bihar News

बिहारः शादी में मछली का सिर खाने को लेकर भिड़े बराती, सात फेरे से पहले जमकर चले डंडे

Dainik Jagran - June 12, 2021 - 7:05pm

संवाद सूत्र, भोरे (गोपालगंज)। बिहार में बात-बात में विवाद होना आम होता जा रहा है। गोपालगंज का ताजा मामला चौंकाने वाला है। भोरे थाना क्षेत्र के सिसई टोला भटवलिया गांव में भोज के दौरान मछली का मुड़ा (सिर) नहीं मिलने के विवाद को लेकर मारपीट हो गई। एक दूसरे की लोगों ने जमकर पिटाई की। वारदात में तीन लोग घायल हो गए। इस घटना के बाद तीनों घायलों को इलाज के लिए रेफरल अस्पताल भोरे में भर्ती कराया गया, जहां तीनों घायलों की हालत गंभीर देख चिकित्सकों ने उन्हें सदर अस्पताल रेफर कर दिया। घायलों के बयान पर पांच लोगों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की गई है। भोरे थाने की पुलिस मामले की जांच पड़ताल कर रही है। 

बताया जाता है कि सिसई टोला भटवलिया गांव निवासी धन्नु गोंड की लड़की की शादी थी। शुक्रवार की रात बरात आई थी। जिसमें हीरा गोंड भोज खाने बैठे थे। खाने के दौरान उन्होंने मछली का मुड़ा तथा और पीस मांगा। जिसे लाने में देरी होने पर हीरा गोंड ने मछली परोस रहे धन्नु गोंड के पट्टीदार सुदामा गोंड के साथ मारपीट शुरू कर दी। इसी बीच लाठी डंडा और रॉड लेकर अजय गोंड, राजा गोंड सहित पांच लोग वहां पहुंच। इन लोगों ने सुदामा गोंड, उनके पुत्र मुन्ना गोंड तथा बहू रीना देवी को मारपीट कर घायल कर दिया। वारदात के बाद शादी में अफरातफरी मच गई। मारपीट की घटना के बाद सभी घायलों को इलाज के लिए भोरे रेफरल अस्पताल ले जाया गया। जहां प्राथमिक उपचार करने के बाद चिकित्सकों ने उन्हें सदर अस्पताल रेफर कर दिया। इस घटना को लेकर सुदामा गोड़ के बयान पर हीरा गोंड सहित पांच लोगों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की गई। पुलिस मामले की छानबीन कर रही है। घटना के बाद शादी के जश्न में मारपीट की ही चर्चा होती रही। मछली को लेकर मारपीट की बात पूरे इलाके सुर्खियां बनी है। 

Categories: Bihar News

मोहब्‍बतपुर गांव से गायब हो गई लड़की, एक और बच्‍ची का भी पता नहीं, शेखपुरा पुलिस बता रही ये वजह

Dainik Jagran - June 12, 2021 - 6:40pm

शेखपुरा, जागरण संवाददाता। शेखपुरा जिले के शेखोपुरसराय थाना क्षेत्र के दो अलग-अलग गांवों से दो नाबालिग लड़कियों के अगवा होने की प्राथमिकी थाने में दर्ज कराई गई है। यह मामला ओनामा एवं मोहब्बतपुर गांव से जुड़ा हुआ है। स्‍वजन इन मामलों में अपहरण की आशंका जता रहे हैं, जबकि पुलिस के मुताबिक मामला कुछ और है। पुलिस दोनों लड़कियों के मोबाइल लोकेशन के जरिये उन्‍हें ट्रेस करने में जुटी है। एक लड़की के गायब होने के मामले में पुलिस को कुछ क्‍लू भी मिला है।

युवक के साथ बाइक पर दिखी एक लड़की

थानाध्यक्ष कल्याण आनंद ने बताया कि ओनामा निवासी 13 वर्ष की एक नाबालिग छात्रा 15 दिनों से गायब है। परिवार वालों ने अगवा किए जाने की प्राथमिकी दर्ज कराई है। वहीं, चार  दिनों से गायब मोहब्बतपुर की एक नाबालिग छात्रा के परिवार वालों ने भी एक युवक द्वारा बाइक पर बैठाकर लड़की को अगवा किए जाने की सूचना दर्ज कराई है। पुलिस मामले की छानबीन कर रही है। लड़की की बरामदगी को लेकर मोबाइल लोकेशन को ट्रेस किया जा रहा है। पुलिस के मुताबिक यह मामला प्रथम दृष्टया प्रेम प्रसंग का लगता है। पुलिस हर बिंदु से मामले की जांच कर रही है।

पूजा में गई किशोरी का बोलेरो सवार युवक ने किया अपहरण

इधर, वैशाली जिले के तिसीऔता थाना क्षेत्र में एक युवती की शादी में काली ब्रह्म पूजन में भाग लेने गई एक किशोरी का अपहरण बोलेरो पर सवार युवक ने कर लिया। इस घटना को लेकर अपहृता की मां ने तिसीऔता थाना में नारी खुर्द गांव के उमा सिंह के पुत्र राजू चौहान के विरुद्ध अपहरण की प्राथमिकी दर्ज कराई है। दर्ज प्राथमिकी के आलोक में तिसीऔता थाना की पुलिस मामले की गहन जांच कर रही है।

परिवार वालों से पीछे चल रही थी लड़की

इस संबंध में मिली जानकारी के अनुसार तिसीऔता थाना क्षेत्र के नारी खुर्द गांव के नगीना साह की नतिनी की शादी के पूर्व काली ब्रह्म पूजन में भाग लेने के लिए दो सगी बहनें आई थीं। इस दौरान दोनों बहनें सबसे पीछे चल रही थीं। इसी बीच पीछे से एक बोलेरो आकर रुक गई तथा उसमें से राजू चौहान निकला और जबरन 13 वर्षीया किशोरी को उठा कर बोलेरो में रख कर वहां से फरार हो गया। इस घटना की जानकारी अपहृता के साथ पूजन कार्यक्रम में भाग लेने उसके साथ गई छोटी बहन ने स्वजनों को दी।

जमीन विवाद में मारपीट

शेखोपुरसराय थाना क्षेत्र के पन्हेसा गांव में जमीन के विवाद में मारपीट का मामला सामने आया है। घायल रामानुज सिंह द्वारा थाने में प्राथमिकी दर्ज कराई गई है। मारपीट का आरोप ग्रामीण पर ही लगाया गया है। पुलिस ने बताया कि मामले की छानबीन की जा रही है।

जामुन तोडऩे पर युवक को पीटा

शनिवार को हथियावां ओपी के गवय गांव में एक युवक छोटू यादव के साथ बुरी तरह मारपीट की गई। घायल युवक बगल के खलासपुर गांव का है। घायल युवक को सदर अस्पताल में भर्ती कराया गया है। युवक अपना पशु चरा रहा था। इसी दौरान बधार में जामुन के पेड़ से कुछ जामुन तोड़ लिया।

Categories: Bihar News

नरेंद्र मोदी के मंत्रिमंडल में बढ़ सकती है बिहार की भागीदारी, उत्तर प्रदेश के चुनावी समीकरण पर भी नजर

Dainik Jagran - June 12, 2021 - 6:39pm

राज्य ब्यूरो, पटना: संसद के मानसून सत्र के पहले मंत्रिमंडल में विस्तार की चर्चा के साथ ही बिहार की भागीदारी बढ़ने की उम्मीद जगी है। जदयू ने संकेत दिया है कि वह भी कैबिनेट में शामिल होगा। पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष आरसीपी सिंह ने शनिवार को कहा-हम भी विस्तार की चर्चा सुन रहे हैं। विस्तार जब कभी हो, एनडीए घटक के नाते जदयू की भी हिस्सेदारी होनी चाहिए। यह जदयू का नया स्टैंड है। नरेंद्र मोदी प्रधानमंत्री पद की जब दूसरी बार शपथ ले रहे थे, उस समय भी जदयू को मंत्रिमंडल में शामिल होने का आफर मिला था। लेकिन, सिर्फ एक सीट की पेशकश के चलते जदयू ने इनकार कर दिया। उस समय तल्खी बढ़ गई थी। जदयू ने कह दिया था कि केंद्रीय मंत्रिमंडल में भागीदारी को लेकर उसे कोई दिलचस्पी नहीं है। मोदी के दूसरे कार्यकाल में पहली बार कैबिनेट के विस्तार की चर्चा हो रही है तो जदयू भी शामिल होने पर सहमत हो गया है। संभावना है कि उसे एक से अधिक सीटों का आफर मिला है। वैसे, जदयू की मांग तीन की है। दो कैबिनेट और एक राज्यमंत्री। इसके जरिए वह एक सवर्ण, एक पिछड़ा और एक अति पिछड़ा बिरादरी को उपकृत करेगा। 

भाजपा में भी हलचल

मोदी मंत्रिमंडल में विस्तार को लेकर भाजपा की राज्य इकाई में भी हलचल है। चर्चा यह है कि भाजपा कोटे के बिहार के मंत्रियों की उपयोगिता की समीक्षा हो रही है। बीते विधानसभा चुनाव में ये कितने असरदार साबित हुए। इनके रहने न रहने से उत्तर प्रदेश के चुनावी समीकरण पर कितना असर पड़ेगा। फिलहाल भाजपा के सभी कदम उत्तर प्रदेश के चुनावी समीकरण को प्रभावित करने की गरज से उठ रहे हैं। मंत्रिमंडल में बिहार भाजपा के सांसदों की भागीदारी बढ़ाने या अनुपयोगी मंत्रियों को हटाने की कार्रवाई भी इसी लिहाज से होगी। वैश्य, ब्राह्मण और पिछड़ी बिरादरी से आने वाले सांसद उत्साहित हैं। 

बिहार का कोटा खाली है

मोदी मंत्रिमंडल में बिहार का कोटा खाली भी है। लोजपा अध्यक्ष रामविलास पासवान उपभोक्ता मामले, खाद्य एवं सार्वजनिक वितरण के मंत्री थे। उनके निधन के बाद बिहार के किसी सांसद को मंत्री नहीं बनाया गया। उम्मीद की जा रही है कि विस्तार के समय बिहार के कोटे का ख्याल इस रिक्ति के लिहाज से भी रखा जाएगा। यह संकेत नहीं मिल रहा है कि इसे किसके हवाले किया जाएगा। 

Categories: Bihar News

पिता का अंतिम दर्शन करने निकली महिला नहीं पहुंच पाई मायके, नालंदा की घटना ने दो घरों को गम में डुबोया

Dainik Jagran - June 12, 2021 - 6:17pm

इस्लामपुर (नालंदा), संवाद सूत्र। पिता की अर्थी उठने से पहले बेटी की भी सड़क दुर्घटना में मौत हो गई। बताया जाता है कि शनिवार को इस्लामपुर- पटना रोड नहर के समीप एक अनियंत्रित ट्रैक्टर चालक ने एक मोटरसाइकिल सवार को टक्कर मार दी, जिसमें मोटरसाइकिल सवार एक महिला की मौत घटना स्थल पर ही हो गई, जबकि उसका पुत्र गंभीर रूप से जख्मी हो गया। घटना के बाद घटनास्थल पर अफरातफरी मच गई। स्थानीय लोगों ने ट्रैक्टर चालक को पकड़ कर पुलिस के हवाले कर दिया। पुलिस ने ट्रैक्टर समेत चालक को हिरासत में ले लिया है। वहीं, घटना के बाद मृतक के स्वजनों ने मुआवजे की मांग को लेकर शव को सड़क पर रखकर घंटों इस्लामपुर-पटना रोड मुख्य सड़क मार्ग को जाम कर दिया।

मरनेवाली महिला जहानाबाद जिले के परस बिगहा थाना क्षेत्र के रामाशेय बिगहा निवासी अमृत कुमार की पत्नी रीना देवी थी। वहीं, घायलों में उसका पुत्र ज्ञान गुंजन कुमार भी शामिल है, जिसका इलाज इस्लामपुर के निजी चिकित्सक के यहां करवाया जा रहा है। इस घटना के संबंध में मृतका के भाई खुदागंज थाना क्षेत्र के चरनटई गांव निवासी रविश कुमार ने बताया कि उनके पिताजी का देहांत शनिवार की सुबह में हो गया था। पिता की मौत की खबर हमने अपनी बहन रीना देवी को दी थी।

पिता की मौत की खबर सुनते ही रीना देवी अपने पिता के अंतिम दर्शन के  लिए शनिवार की सुबह अपने गांव रामाशेय बिगहा, पति अमृत कुमार एवं पुत्र ज्ञान गुंजन के साथ मोटरसाइकिल से मायके आ रही थी। इस्लामपुर पहुंचने पर इस्लामपुर-पटना रोड नहर के समीप एक अनियंत्रित ट्रैक्टर चालक ने उनके मोटरसाइकिल में टक्कर मार दी। जिसमें रीना देवी की मौत घटनास्थल पर ही हो गयी। पुत्र ज्ञान गुंजन पूरी तरह से जख्मी हो गया। वही महिला का पति इस दुर्घटना में पूरी तरह सुरक्षित है।

घटना की खबर सुनते ही इस्लामपुर थाना अध्यक्ष शरद कुमार रंजन, प्रखंड विकास पदाधिकारी चंदन कुमार, अंचलाधिकारी अजय कुमार के साथ समाजसेवी नेता श्रीनिवास शर्मा, महेंद्र सिंह यादव, भाकपा माले नेता उमेश पासवान घटनास्थल पर पहुंचकर सड़क जाम कर रहे आक्रोशित लोगों को समझाकर पारिवारिक लाभ योजना के तहत मिलने वाली 20 हजार रुपया की राशि का चेक देने के साथ आपदा प्रबंधन की राशि दूसरे जिला से दिलाने के लिए अनुशंसा करने का आश्वासन देकर जाम हटाया। सड़क जाम हटते ही पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया।

Categories: Bihar News

तेज प्रताप यादव को मिला एनडीए में आने का ऑफर! भाजपा अध्‍यक्ष संजय जायसवाल बोले- स्‍वागत है

Dainik Jagran - June 12, 2021 - 5:14pm

पटना, ऑनलाइन डेस्‍क। Bihar Politics: लालू प्रसाद यादव के बड़े बेटे तेज प्रताप यादव को राजद छोड़कर एनडीए में आने का ऑफर मिल गया है। भाजपा के प्रदेश अध्‍यक्ष संजय जायसवाल ने कहा कि तेज प्रताप अगर एनडीए में शामिल होना चाहें तो उनका स्‍वागत किया जाएगा। उन्‍होंने कहा कि वे हाल में हिंदुस्‍तानी अवाम मोर्चा के राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष, पूर्व मुख्‍यमंत्री जीतन राम मांझी से मिले हैं। मांझी जी वरिष्‍ठ नेता हैं और कोई भी उनकी पार्टी से जुड़ता है तो एनडीए में उसका स्‍वागत किया जाएगा। उन्‍होंने कहा कि तेज प्रताप अपनी पार्टी से परेशान हैं और मार्गदर्शन के लिए मांझी से मिले थे।

संजय जायसवाल ने तंज भी कसा

भाजपा नेता ने कहा कि राजद के बड़े नेता राज्‍य में हर आपदा के वक्‍त गायब हो जाते हैं। तेज प्रताप यादव इससे परेशान हैं। उन्‍होंने कहा कि तेज प्रताप को अब सद्बुद्धि आ गई है, यह अच्‍छी बात है। आदमी को जब भी ज्ञान हो, अच्‍छा ही कहा जाएगा। उन्‍होंने कहा कि राज्‍य का स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री रहते तेज प्रताप कभी अस्‍पतालों की ओर नहीं गए, लेकिन अब जा रहे हैं। उन्‍होंने कहा कि तेज प्रताप के हम में शामिल होने पर आखिरी फैसला तो मांझी ही लेंगे, लेकिन भाजपा उनके एनडीए में आने का स्‍वागत करेगी। भाजपा अध्‍यक्ष के इस बयान में आमंत्रण से अधिक तंज है।

शुक्रवार को मांझी से मिले थे तेज प्रताप

शुक्रवार को लालू प्रसाद यादव का जन्‍मदिन था। इसी दिन तेज प्रताप अचानक मांझी के आवास पर पहुंच गए। उन्‍होंने मांझी के घर जाने से पहले ही उनके मौजूद रहने की पुष्टि कर ली थी। मुलाकात खत्‍म होने के बाद दोनों नेताओं ने मीडिया से बात भी की। इस दौरान तेज प्रताप ने कहा कि अगर मांझी जी का मन एनडीए में डोल रहा हो तो वे राजद के साथ आ जाएं, हालांकि मांझी ने कहा कि वे एनडीए में ही रहेंगे। मांझी ने शुक्रवार को लालू यादव से भी फोन पर बात की थी।

Categories: Bihar News

बिहार में सियासी अटकलों को मिली नई हवा, केंद्रीय मंत्रिमंडल को लेकर जदयू ने NDA के सामने रखी शर्त

Dainik Jagran - June 12, 2021 - 4:36pm

जागरण टीम, पटना। बिहार का सियासी पारा चरम पर है। राजद, भाजपा, हम और वीआइपी की ओर से आ रहे बयानों के बीच जदयू ने शनिवार को नई हवा दे दी है। राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (एनडीए) का हिस्सा जनता दल यूनाइटेड (जदयू) अब केंद्रीय मंत्रिमंडल में स्थान चाहता है। पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष आरसीपी सिंह ने इसको लेकर बयान दिया है। पत्रकारों से बात करते हुए आरसीपी ने एनडीए के साथियों को सम्मान करते हुए मंत्रिमंडल में स्थान मांगा है। 

जदयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष आरसीपी सिंह ने शनिवार को पत्रकारों से बात करते हुए कहा कि हमें पता चला है कि केंद्रीय मंत्रिमंडल का विस्तार होने जा रहा है। उन्होंने कहा कि एनडीए का हिस्सा जदयू भी है। ऐसे में मंत्रिमंडल के विस्तार में जदयू को भी तरजीह मिलनी चाहिए। आरसीपी सिंह ने कहा कि गठबंधन के साथियों को सम्मान मिलना चाहिए। आरसीपी के बयान से देश से लेकर बिहार की राजनीति को नई हवा मिल गई है। जदयू किसे केंद्र में भेजना चाहता है यह तो साफ नहीं है, लेकिन सुगबुगाहट तेज हो गई है।

एनडीए में हैं जदयू के 16 सांसद

गौरतलब है कि केंद्रीय मंत्रिमंडल के विस्तार की चर्चा चल रही है। अनुमान लगाया जा रहा है कि नरेंद्र मोदी की कैबिनेट में बदलाव संभव है। ऐसे में बिहार से जदयू ने भी अपनी हिस्सेदारी जाहिर कर दी है। अभी एनडीए गठबंधन में जदयू के 16 सांसद हैं। पिछली बार नरेंद्र मोदी के कैबिनेट विस्तार के समय जदयू के शामिल होने की चर्चा थी मगर अंत में बात नहीं बनी। कहा जाता है कि उस समय आरसीपी सिंह के मंत्री बनने की बात थी, मगर ऐसा नहीं हुआ।

बीजेपी और मांझी की पार्टी कर रही कटाक्ष

गौरतलब है कि बिहार एनडीए में भी सबकुछ ठीक नहीं चल रहा है। गठबंधन के साथी बीजेपी और हम इशारों-इशारों में एक दूसरे पर कटाक्ष कर रहे हैं। शुक्रवार को हिंदुस्तानी आवाम मोर्चा (हम) के राष्ट्रीय अध्यक्ष जीतनराम मांझी की राजद विधायक तेजप्रताप यादव से मुलाकात हुई थी। बिहार के पूर्व स्वास्थ्य मंत्री और लालू यादव के बड़े बेटे ने कहा था कि अगर मांझी महागठबंधन में आना चाहें तो उनका स्वागत है। वहीं मांझी ने गठबंधन से बाहर होने की सभी अटकलों को विराम लगा दिया था। 

Categories: Bihar News

जितना राहुल मंदिर जाते हैं, उतना ही घर से बाहर निकलें, जितना सोनिया हिंदी... संजय जायसवाल ने दिया बयान

Dainik Jagran - June 12, 2021 - 4:18pm

पटना, ऑनलाइन डेस्‍क। Bihar Politics: बिहार भाजपा के अध्‍यक्ष संजय जायसवाल ने कांग्रेस नेता राहुल गांधी पर अनोखे अंदाज में तंज कसा है। वे बिहार में कोरोना वायरस संक्रमण कम होने के बाद लॉकडाउन हटाए जाने के बाद की परिस्थितियों को लेकर वह बयान दे रहे थे। उन्‍होंने कहा कि कोरोना का डर अभी खत्‍म नहीं हुआ है। लॉकडाउन खत्‍म के बावजूद लोगों को बेवजह घर से निकलने से बचना चाहिए, यह कहने के लिए उन्‍होंने राहुल गांधी का उदाहरण दे दिया। जायसवाल ने कहा कि लोग अभी घर से बाहर उतना ही निकलें, जितना कि राहुल मंदिर में जाते हैं। वे यहीं नहीं रुके और उन्‍होंने कोरोना को लेकर ऐसी ही कुछ और बातें कहीं। उन्‍होंने सोनिया गांधी का भी नाम लिया।

डॉक्‍टरों को भी कोरोना के मामले में ठीक से पता नहीं

भाजपा नेता ने कहा कि डॉक्‍टर भी कोरोना के बारे में उतना ही जानते हैं, जितना सोनिया गांधी हिंदी जानती हैं। इसके बाद उन्‍होंने कहा कि मास्‍क का इस्‍तेमाल उतना ही करें, जितना उत्‍तर प्रदेश के मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ भगवा वस्‍त्र का प्रयोग करते हैं। उनके इन बयानों के बाद प्रदेश में टीका-टिप्‍पणी का दौर और भी गर्म होने की उम्‍मीद है।

बिहार में हटा लिया गया है लॉकडाउन

बिहार में इसी हफ्ते लॉकडाउन हटा लिया गया है। मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार ने पिछले दिनों लॉकडाउन खत्‍म करने और अनलॉक की प्रक्रिया शुरू करने का ऐलान किया था। अब राज्‍य में सात बजे शाम से नाइट कर्फ्यू जारी रहता है। हालांकि पाबंदियों में ढील दिए जाने के बाद लोग लापरवाही बरतने लगे हैं। इसे खुद मुख्‍यमंत्री ने पटना का भ्रमण करने के दौरान देखा और इस पर चिंता भी जताई। उन्‍होंने लोगों से अपील की है कि मास्‍क का इस्‍तेमाल करने में जरा भी लापरवाही नहीं करें। उन्‍होंने बेवजह घरों से बाहर निकलने और भीड़ लगाने से बचने के लिए भी अपील की है।

Categories: Bihar News

बिहारः कोरोना की तीसरी लहर आने की खबर के बीच बेगूसराय में दो साल की बच्ची मिली संक्रमित

Dainik Jagran - June 12, 2021 - 4:05pm

संसू, चेरिया बरियारपुर (बेगूसराय) : कोरोना के तीसरी लहर की खबर से एक तो पहले ही हड़कंप मचा हुआ था, इसी बीच चेरिया बरियारपुर सीएचसी में एक बच्ची की कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आने से स्वास्थ्यकर्मी सहित परिजन स्तब्ध रह गए। चिकित्सक ने बताया बच्ची को सर्दी-बुखार होने के कारण दोबारा एन्टीजन टेस्ट किया गया तो पुनः रिजल्ट पॉजिटिव आया। जिसकी दोनों रिपोर्ट ऑन ड्यूटी चिकित्सक डा. सदन कुमार को सौंप दी गई है। जानकारी के अनुसार उक्त बच्ची श्रीपुर पंचायत की है। डॉक्टर ने बताया बच्ची में नॉर्मल सर्दी-बुखार के लक्षण दिखे। लेकिन रिपोर्ट पॉजिटिव रहने के कारण दवाई देकर होम आइसोलेशन में भेज दिया गया है, जिसपर निरंतर नजर रखा जा रहा है।

कोरोना व ब्लैक फंगस से युवक की मौत

संसू, नावकोठी (बेगूसराय) : लाखों रुपये खर्च के बावजूद युवक को कोरोना एवं ब्लैंक फंगस से जान नहीं बचाई जा सकी। प्रखंड मुख्यालय नावकोठी के वार्ड संख्या चार के हरेराम सिंह के 36 वर्षीय पुत्र राजेश कुमार की मौत गुरुवार की रात ब्लैक फंगस से पटना में इलाज के दौरान हो गई। तीन भाइयों में वह मंझले थे। मृतक के बड़े भाई प्रवीण कुमार उर्फ मुन्ना सिंह ने बताया कि राजेश कुमार की तबीयत आठ मई को एकाएक खराब हो गई थी। उन्हें सांस लेने में तकलीफ हो रही थी। इलाज के लिए बेगूसराय के निजी क्लीनिक में भर्ती कराया गया। परंतु बेहतर इलाज के लिए 16 दिनों के बाद 24 मई को पटना के निजी क्लीनिक में भर्ती कराया गया। यहां जांच के बाद कोरोना पॉजीटिव पाए गए। इलाज के बाद वे निगेटिव हो गए। परंतु, कुछ दिनों के बाद क्लीनिक के चिकित्सकों ने उन्हें ब्लैक फंगस होने की बात बताई। ब्लैंक फंगस का सफल आपरेशन हुआ। पंरतु, ऑपरेशन के कुछ ही घंटे के बाद हृदय गति रुक जाने से मौत हो गई। इलाज पर स्वजनों ने 17 लाख रुपये खर्च किए। 

Categories: Bihar News

SSR Memories: साल भर में सुशांत से जुड़ी काफी चीजें बदल गईं, लेकिन यह चीज जस की तस है

Dainik Jagran - June 12, 2021 - 3:45pm

पटना, ऑनलाइन डेस्‍क। Sushant Singh Rajput Memories: कम समय में बॉलीवुड में ऊंचा मुकाम हासिल करने वाले स्‍टार सुशांत सिंह राजपूत को दुनिया भले भूल जाए, पटना और बिहार के लोगों के लिए ऐसा करना मुश्किल है। 14 जून यानी सोमवार को सुशांत की पहली बरसी है। इस बीच काफी कुछ गुजर चुका है, बदल चुका है, लेकिन सुशांत की कुछ स्‍मृतियां अभी जस की तस हैं। इनमें से एक है उनका ट्विटर अकाउंट। सुशांत का यह अकाउंट ट्विटर से वेरिफाइड है, इसलिए इसके फेक होने की आशंका नहीं है। इस अकाउंट से बॉलीवुड स्‍टार ने अपनी कई यादें लगातार साझा की हैं, जिन्‍हें देखकर एकबारगी ऐसा लगता है कि यह अभिनेता अभी भी हमारे पास है और बस अपना कोई अलहदा रोल अदा कर रहा है।

अपनी संस्‍कृति से था गहरा लगाव

सुशांत को अपनी संस्‍कृति और अपनी विरासत से गहरा लगाव था। उनके ट्विटर अकाउंट पर 27 दिसंबर 2019 को साझा आखिरी पोस्‍ट इसी तरफ इशारा करती है। सुशांत की मौत इसके करीब छह महीने बाद 14 जून 2020 को हुई। लेकिन इन छह महीनों के दौरान उनके ट्विटर अकाउंट पर कोई एक्टिविटी नहीं दिखती है। उनका आखिरी ट्वीट प्रोमोशनल भी जान पड़ता है, क्‍योंकि इसमें एक खास बैंक और खास कार्ड का नाम लिया गया है। इसके पहले भी लगातार उन्‍होंने कई प्रोमोशनल किस्‍म के ट्वीट किए हैं।

Like the shadow

I am

and

I am not...

~ Jalaluddin Rumi ❤️ pic.twitter.com/Ejj1X6LSyV

— Sushant Singh Rajput (@itsSSR) October 26, 2019

काफी भावनात्‍मक है एसएसआर का यह ट्वीट

26 अक्‍टूबर 2019 को सुशांत ने खुद के व्‍यक्तित्‍व को बताता एक ट्वीट किया है। इसमें उन्‍होंने लिखा है - छाया की तरह मैं हूं भी और मैं नहीं भी हूं। यह ट्वीट अंग्रेजी में है। इसे 10 हजार 900 लोगों ने रिट्वीट किया है। 93 हजार से अधिक लोगों ने इसे लाइक किया है। करीब तीन हजार लोगों ने इसपर कमेंट किया है। उनका यह अकाउंट अक्‍टूबर 2014 से सक्रिय रहा, लेकिन अब इस पर कोई हलचल नहीं है। बावजूद इसके ट्विटर पर ब्‍लू टिक बरकरार है।

 

Categories: Bihar News

Pages

Subscribe to Bihar Chamber of Commerce & Industries aggregator - Bihar News

  Udhyog Mitra, Bihar   Trade Mark Registration   Bihar : Facts & Views   Trade Fair  


  Invest Bihar